अब पटना IGIMS में नहीं होगा कोरोना का इलाज, सरकार ने लिया बड़ा फैसला

0
244

बिहार संवाददाता सिकंदर राय की रिपोर्ट

पटना : कोरोना वायरस वर्ल्ड में अपना कहर तेजी से बरपा रहा है। इंडिया में भी इसकी स्थिति बिगड़ती जा रही है। भारत में अब कोरोना मरीजों का आंकड़ा 1200 पहुंच चुका है। इस वक्त एक बड़ी खबर सामने आ रही है पटना से जहां आइजीआइएमएस में अब कोरोना का इलाज नहीं कराने का निर्देश दिया गया है।राज्य सरकार ने एक बड़ा फैसला लेते हुए बताया कि IGIMS को कोरोना इलाज से फ्री रखा जायेगा।IGIMS में कोरोना की जांच होगी लेकिन उसका इलाज नहीं होगा।

अन्य बीमारियों के इलाज को देखते हुए सरकार ने यह बड़ा निर्णय लिया है।सरकार की ओर से यह बताया गया है कि  IGIMS को कोरोना इलाज से फ्री रखा जायेगा। IGIMS में कोरोना की जांच होगी लेकिन उसका इलाज नहीं होगा।केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय की ओर से बताया गया कि पिछले 24 घंटों में COVID 19 के 92 मामले आए हैं और चार लोगों की मौत हुई है। स्वास्थ्य मंत्रालय के संयुक्त सचिव लव अग्रवाल ने कहा कि ऐसी स्थिति में लॉकडाउन का पालन करना बेहद जरूरी है।

बिहार सरकार की ओर से यह जानकारी मिली है कि निजी अस्पतालो कों खोलने कर लिए IMA के प्रतिनिधियों से की जा रही है। भारत में अब तक 29 लोगों की मौत हुई है।स्वास्थ्य मंत्रालय ने कहा है कि लॉकडाउन तोड़ेंगे तो लड़ाई नाकाम हो जाएगीलॉकडाउन का पालन करें। विकसित देश के मुकाबले हमारे यहां मामले कम हैं।दुनियाभर में देखें तो एक व्यक्ति ने 100 लोगों को संक्रमित किया और महामारी तेजी से फैली।अब तक भारत में 1209 कोरोना के जानलेवा वायरस के शिकार हो चुके हैं।पिछले 24 घंटे में कोरोना से भारत में 4 लोगों की मौत हुई है।स्वास्थ्य मंत्रालय ने कहा कि लॉकडाउन तोड़ेंगे तो लड़ाई नाकाम हो जाएगी। लॉकडाउन का पालन करना होगा।