ईमानदारी से कर्तव्य का पालन करें तो स्थिति को कर सकते नियंत्रित – जिलाधिकारी

0
295

बिहार संवाददाता सिकंदर राय की रिपोर्ट

ईमानदारी से कर्तव्य का पालन करें तो स्थिति को कर सकते नियंत्रित – जिलाधिकारी
– अन्य देश एवं राज्य से आ रहे व्यक्तियों की जांच सघनता से की जाए जांच ।
– प्रत्येक प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र स्तर तैनात रहेंगे स्वास्थ्यकर्मी

सहरसा/ 24 मार्च: कोरोनावायरस के संक्रमण की रोकथाम के संबंध में विकास भवन सभागार में स्वास्थ्य विभाग के चिकित्सकों एवं अधिकारियों के साथ जिलाधिकारी ने समीक्षात्म बैठक कर कई आवश्यक निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि वर्तमान परिस्थति में स्वास्थ्य विभाग के पदाधिकारियों एवं कर्मियों का विशेष दायित्व है कि तन्मयता एवं परिश्रम के साथ अपने कर्तव्य का पालन करेंगे तो हम स्थिति को नियंत्रण कर सकते हैं। सतर्कता बरतेंगे तो संक्रमण को रोकने में सफल होंगे। अन्य राज्यों से लौट रहे बिहार वासियों के लिए उनके गांव में हीं अवस्थित विद्यालय भवनों में आवासन हेतु अस्थायी व्यवस्था के संदर्भ में जिलाधिकारी ने हर पंचायत में एक-एक विद्यालयों को चिन्हित करते हुए कोरेन्टाइन के लिए वहां सभी आवश्यक व्यवस्था सुनिश्चित कराने का निर्देष दिया ।

शत प्रतिशत जांच के दिये निर्देश: अगले दो से तीन दिनों के अंदर शत प्रतिशत व्यक्तियों की जांच कर लेने के निर्देश जिलाधिकारी कौशल कुमार ने दिया। उन्होंने कहा कि वर्तमान परिस्थति में स्वास्थ्य विभाग के पदाधिकारियों एवं कर्मियों का विशेष दायित्व है कि तन्मयता एवं परिश्रम के साथ अपने कर्तव्य का पालन करेंगे तो हम स्थिति को नियंत्रण कर सकते हैं। सतर्कता बरतेंगे तो संक्रमण को रोकने में सफल होंगे। अन्य राज्यों से लौट रहे बिहार वासियों के लिए उनके गांव में हीं अवस्थित विद्यालय भवनों में आवासन हेतु अस्थायी व्यवस्था के संदर्भ में जिलाधिकारी ने हर पंचायत में एक-एक विद्यालयों को चिन्हित करते हुए कोरेन्टाइन के लिए वहां सभी आवश्यक व्यवस्था सुनिश्चित कराने का निर्देष दिया ।

साथ ही आइसोलेशन हेतु जिला स्तर पर नव निर्मित परीक्षा भवन में पचास बेड तथा सदर अस्पताल में सौ बेड तैयार करने के निर्देश दिये गये। जिलाधिकारी ने सिमरी बख्तियारपुर के अनुमंडलीय अस्पताल भवन में पचास बेड तैयार कराने का निर्देश दिया। इन स्थानों को सेनेटाइज करने एवं विशेष साफ-सफाई के निर्देश दिए गए।

पीएचसी में तैनात रहेगी स्वास्थ्यकर्मियों की टीम: हर प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र पर दो ए.एन.एम. एवं चार पारा मेडिकल स्टाफ की बारह टीम 8-8 घंटे की अवधि के लिए तैनात रहेंगे। हर शिफ्ट में टीम के साथ एक डॉक्टर भी प्रतिनियुक्त रहेंगे। जो भी कॉल आते हैं उसपर त्वरित कार्रवाई सुनिश्चित किया जाना है। कॉल को अटेंड नहीं करने की स्थिति में कार्रवाई होगी।

बैठक में जिला सिविल सर्जन तथा स्वास्थ विभाग के अधिकारीगण तथा सभी सहयोगी संस्था के सदस्य मौजूद थे।