एसएसपी ने कड़ा रुख अपनाते हुए थानाध्यक्ष के वेतन भुगतान पर लगायी रोक

0
183

बिहार संवाददाता सिकंदर राय की रिपोर्ट

एसएसपी दरभंगा श्री बाबू राम ने कड़ा रुख अपनाते हुए थानाध्यक्ष से स्पष्टीकरण मांग है। नेहरा सहायक थाना क्षेत्र के नेहरा गांव में 2 नवंबर 2019 को हुई मारपीट की घटना में नेहरा ओपी अध्यक्ष द्वारा टालमटोल कर प्राथमिकी दर्ज नहीं करने के आरोप में एसएसपी ने नेहरा ओपी अध्यक्ष मनोज कुमार शर्मा का वेतन तत्काल प्रभाव से स्थगित करते हुए स्पष्टीकरण मांगा है।
एसएसपी के निर्देश के बाद शनिवार को आवेदक को विशेष दूत के माध्यम से खोजकर मनीगाछी थाना में कांड संख्या 5/2020 दर्ज कर कार्रवाई शुरू कर दी गई है। घटना के संबंध में बताया जाता है कि नेहरा गांव निवासी मो.नसीम को 2 नवम्बर 2019 को उनके पड़ोसी मो. बुुुटैय खान, मो. मुस्ताक खान एवं उनके परिवार के सदस्यों ने एक साथ मिलकर लाठी-डंडे एवं फरसा से मारपीट कर जख्मी कर दिया था।
इस दौरान उनको बचाने आई उनकी पत्नी रुखसाना खातुन को भी लोहे के रॉड से मारकर जख्मी कर दिया। मारपीट की घटना के दौरान घर से नगद, पत्नी रुखसाना के कान की बाली एवं गले से चेन की लूट भी की गई। इन दोनों का प्राथमिक इलाज पीएचसी में किया गया। वहां उनकी नाजुक हालत को देखते हुए उन्हें डीएमसीएच रेफर कर दिया गया था।
इस दौरान पीड़ित की ओर से लिखित एवं मौखिक जानकारी देने के बाद भी नेहरा थानाध्यक्ष ने इसका संज्ञान नहीं लिया और टालमटोल करते रहे। पीड़ित मो. नसीम को बुरी तरह जख्मी अपनी पत्नी रुखसाना को विशेष चिकित्सा के लिए पीएमसीएच में भी इलाज करवाना पड़ा।
स्थानीय थाना से न्याय नहीं मिलने पर पीड़ित नसीम ने इलाज के सभी पुर्जे के साथ एसएसपी को 4 जनवरी 2020 को लिखित आवेदन दिया। मामले की गंभीरता को देखते हुए एसएसपी ने नेहरा ओपी अध्यक्ष के आचरण को संदिग्ध एवं कर्त्तव्य के प्रति लापरवाह मानते हुए तत्काल प्रभाव से वेतन पर रोक लगाते हुए पांच दिनों के भीतर कांंड अंकित कर स्पष्टीकरण देने का निर्देश दिया है।
एसएसपी के ऐसे रुख को देखते हुए आनन-फानन में शनिवार को मो. नसीम खान के आवेदन पर कांड संख्या-5/2020 दर्ज किया गया है। जिसमें मो. मुस्ताक खान, बुतैय खान, सोनी खातुन, अमीना खातुन एवं लाखो खातुन को आरोपी बनाया गया है।