करंट लगने से हुई मौत।

0
308

बिहार संवाददाता सिकंदर राय की रिपोर्ट
समस्तीपुर जिला अंतर्गत शिवाजीनगर थाना क्षेत्र के बोरज गांव निवासी राम कुमार झा के पत्नी रेनू देवी ने बताई की 3 माह पूर्व में उनके 23 वर्षीय पुत्र मणिकांत झा बिजली के चपेट में आने से मृत्यु हो गई। रेनू देवी ने बताया कि उनके पड़ोसी हेमंत झा के घर में बिजली की तार जुड़वाने के लिए मेरे पुत्र को बुलाकर ले गया। तार जोड़ने के क्रम में मेरे पुत्र बिजली की चपेट में आ गया। चपेट में आने के 40 मिनट बाद मेरे पुत्र की मृत्यु हो गया ।लेकिन उस दौरान मेरे पुत्र को डॉक्टर से इलाज नहीं करवाया जिस कारण मेरी पुत्र की मौत हो गई।
महिला ने यह भी बताइए कि हेमंत झा ,संजय झा ,सुनील कुमार झा, विनोद झा ,फुल झा यह सभी की मिलीभगत से हमारे पुत्र की मृत्यु का जिम्मेदार है। क्योंकि यह लोग जानबूझकर इलाज नहीं करवाया ।मेरा पुत्र इनके घर में पूर्व में भी काम किया ।जो पैसा बकाया था बार-बार तगादा करने पर इन्हें को बुरा लगा ।जिस कारण घटना का अंजाम दिया है।
महिला ने भी बताएं कि शिवाजीनगर ओपी थाना।
घटना के दौरान आए लेकिन पुत्र विरोग बेहोश हो गई
शिवाजीनगर ओपी पुलिस बिना बयान लिए हमसे एक कागज पर निशान लेकर चले गए जो कि मैं सिग्नेचर करती हूं ।महिला ने बताई कि जाने के बाद पुलिस उनके सपोर्ट में काम किया है।
महिला ने यह भी बताइए कि उसके बाद समस्तीपुर पुलिस अधीक्षक के कार्यालय में आवेदन दिए लगभग 10 दिन के बाद समस्तीपुर से जांच के लिए पुनः शिवाजीनगर ओपी को भेज दिए ।शिवाजीनगर ऑफिस है मनोज कुमार सिंह जांच में आए लेकिन मेरे घर पर नहीं आ कर उन लोगों के घर पर ही जाकर पूछताछ कर चले गए।

उसके बाद क्या हुआ।
रेनू देवी ने बताया कि मेरा जवान बेटा की हत्या कर दिया गया उन लोगों के द्वारा उसके बाद में न्याय के लिए दर-दर की ठोकरे खा रहा हूं कहीं से न्याय नहीं मिला तो थक हारकर रोसड़ा व्यवहार न्यायालय में अभियोग पत्र 732/19 दायर करवाए हैं जिसमें धारा 120बी, 302, 149 ,406 ,420 ,भा०द०वि० के तहत हेमंत झा संजय झा सुनील कुमार झा विनोद झा फुल झा को अभियुक्त बनाए हैं अब न्यायालय पर ही विश्वास है मुझे उम्मीद है कि मुझे न्याय जरूर मिलेगा।