कश्मीर CRPF हमला: जितेंद्र सिंह पर भड़के उमर अब्दुल्लाह

0
486

जम्मू-कश्मीर के पुलवामा ज़िले में सीआरपीएफ़ के काफ़िले पर चरमपंथी हमले में क़रीब 44 जवानों के मारे जाने पर सरकार के साथ-साथ विभिन्न राजनीतिक दलों की तरफ़ से कड़ी प्रतिक्रिया आई है.

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने इस मामले को लेकर राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार अजित डोभाल और गृह मंत्री राजनाथ सिंह से बात की है. राजनाथ सिंह ने इस हमले को पाकिस्तान समर्थित हमला क़रार दिया है

केंद्रीय विदेश राज्य मंत्री और पूर्व सेना अध्यक्ष जनरल वीके सिंह ने तो यहां तक कह दिया कि सेना के ख़ून के हर क़तरे का बदला लिया जाएगा.

जनरल वीके सिंह ने इस चरमपंथी हमले को कायरतापूर्ण बताते हुए ट्वीट किया है, ”एक सैनिक और भारतीय नागरिक होने के नाते इस कायरतापूर्ण हमले को लेकर मेरा ख़ून खौल रहा है. पुलवामा में हमारे बहादुर सैनिकों ने जान गंवाई है. मैं इस निःस्वार्थ बलिदान को सलाम करता हूं और वादा करता हूं कि हमारे सैनिकों के ख़ून के हर क़तरे का बदला लिया जाएगा.

दूसरी तरफ़ केंद्रीय मंत्री जितेंद्र सिंह के एक बयान पर उमर अब्दुल्लाह ने कड़ी आपत्ति जताई है.

जितेंद्र सिंह ने इस हमले को लेकर कहा था, ”यह हताशा में किया गया एक कायरतापूर्ण हमला है. मैं उनसे सवाल करना चाहता हूं जो भारत में रहते हैं और ख़ुद को कश्मीर की मुख्यधारा के नेता मानते हैं पर वो भारतीय ज़मीन पर ऐसी आतंकी गतिविधियों के बाद खुलकर सामने नहीं आते

जितेंद्र सिंह की इस टिप्पणी पर उमर अब्दुल्लाह ने कड़ी आपत्ति जताई और कहा कि इस मंत्री को अपने बयान पर शर्म आनी चाहिए. कश्मीरी की मुख्यधारा की पार्टियों के नेताओं ने इस हमले की प्रधानमंत्री से भी पहले खुलकर निंदा की है. यह व्यक्ति मृत और ज़ख़्मी सैनिकों को लेकर गंदी राजनीति कर रहा है.

इस हमले पर पीएम मोदी ने ट्वीट कर कड़ी निंदा की है. पीएम ने ट्वीट में लिखा है, ”पुलवामा में सीआरपीएफ़ पर हमला बेहद निंदनीय है. इस कायरतापूर्ण हमले की मैं कड़ी निंदा करता हूं. हमारे बहादुर जवानों का यह बलिदान बेकार नहीं जाएगा. पूरा देश कंधे से कंधे मिलाकर शहीद जवानों के परिवारों के साथ खड़ा है. दुआ है कि ज़ख़्मी जवान जल्दी ठीक हो जाएं

वित्त मंत्री अरुण जेटली ने ट्वीट कर हमले की कड़ी निंदा करते हुए कहा है, ”जम्मू-कश्मीर के पुलवामा में सीआरपीएफ़ पर कायरतापूर्ण और निंदनीय आतंकी हमला है. पूरा देश शहीदों को सलाम करता है और हम सभी उनके परिवारों के साथ खड़े हैं. घायलों के जल्द ठीक होने की कामना करते हैं. इस क्रूर कार्रवाई के लिए आतंकियों को कड़ा सबक सिखाया जाएगा.”

कांग्रेस अध्यक्ष ने राहुल गांधी ने इस हमले को कायरतापूर्ण बताते हुए ट्वीट किया, “जम्मू-कश्मीर के पुलवामा में सीआरपीएफ़ के काफ़िले पर हुए कायरतापूर्ण हमले से व्यथित हूँ. शहीदों के परिवारों के प्रति मेरी संवेदना और जो घायल हुए हैं, उनके शीघ्र स्वस्थ होने की कामना.

उधर प्रियंका गांधी लखनऊ में प्रेस कॉन्फ़्रेंस करने वाली थीं लेकिन इस घटना के बाद उन्होंने कहा कि अभी दुखद घटना हुई है और ऐसे समय में राजनीति पर बात करने का कोई मतलब नहीं है. प्रियंका ने प्रेस कॉन्फ़्रेंस रद्द कर दी.

नेशनल एंटीकरप्शन एण्ड आपरेशन कमेटी आफ इंडिया के रास्ट्रीय अध्यक्ष डॉ० राजेश शुक्ला ने पुलवामा हमले की घोर निंदा करते हुए शोक जताया।