कोरोना के वाबजूद महिला,बच्चो संग पुरुष भी डटे रहें सत्याग्रह स्थल पर !

0
191

बिहार संवाददाता सिकंदर राय की रिपोर्ट

कोरोना के वाबजूद महिला,बच्चो संग पुरुष भी डटे रहें सत्याग्रह स्थल पर !

सत्याग्रह का 64वां दिन भी जारी रहा 

ताजपुर /समस्तीपुर 17 मार्च 2020

ताजपुर के शाहीन बाग में जारी
“सत्याग्रह ” को कई वक्ताओं ने सम्बोधित करते हुए ने कहा कि मोदी सरकार NRC, CAA और NPR जैसे कानून लाकर देश के नागरिकों में भेदभाव कर रही है.” l उन्होंने कहा कि संविधान की प्रस्तावना में ‘हम भारत के लोग’ का प्रयोग किया गया है किसी जाति व धर्म सूचक शब्द का प्रयोग नहीं किया गया। आज संविधान की इसी असल बहुलतावादी सोच को खत्म करने का प्रयास किया जा रहा है। यह कानून भारतीय संविधान में दिए समानता के मौलिक अधिकार के खिलाफ है।ये भारतीय समाज के विविधता वाले स्वरूप के साथ भी छेड़छाड़ करने वाला क़ानून है l उन्होंने कहा कि यह समानता व धर्मनिरपेक्षता तथा भारत और उसके संविधान के मूल मूल्यों को बनाए रखने की हमारी लड़ाई है l उन्होंने ‘हम होंगे कामयाब’ के नारे के साथ अपने संक्षिप्त संबोधन का समापन किया। सत्याग्रह की अध्यक्षता मोo आफताब आलम ‘हीरा’, तथा संचालन शहजाद अहमद ने किया। आज के वक्ताओं में कहकशां गौहर ‘नुजहत प्रवीण’ जेवा इमाम ‘सुफिया नाज’ डॉ0 सदरी ‘सरफराज थे।। इस मौके मौके उपस्थित राजद जिला उपाध्यक्ष अरमान सदरी , मो0 दिलदार , मोo सरफराज़ अहमद, मो0 नुरुजजुहा उर्फ आफो भाई , मोo अहमद राजा उर्फ़ मिंटू भाई , राजन भाई ,कारी अनवार साहब’ मो0 कुर्बान, अब्दुल मालिक, मोo सहजाद अहमद लूडो, मोo फैयाज , मोo सेराज आलम, सरफराज़ अहमद, याद, मोo परवेज आलम , मोo वशीर अहमद , मोo आसिफ इकबाल, मोo जाबिर , अली खान,शाहनवाज बक्श, सूफिया नाज़, मोo फिरोज,फैयाज अहमद, सादान सददरी, आरी सददरी ‘आसिफ होदा,एवाद सददरी’ मुश्ताक ताजपुरी आदि ने सम्बोधित किया।