गैर संचारी रोगों के मरीजों की स्क्रीनिंग शुरू मुजफ्फरपुर – 85 लोगों की हुई स्क्रीनिंग

0
204

बिहार संवाददाता सिकंदर राय की रिपोर्ट।

मुजफ्फरपुर गरौल प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र अंतर्गत सोन्धो हेल्थ एंड वैलनेस सेन्टर पर गैर संचारी रोगों को को लेकर मंगलवार को स्क्रीनिंग हुई। इस स्क्रीनिंग कैम्प में लगभग 85 लोगों का स्वास्थ्य जांच की गयी। जिसमें रक्तचाप, टीबी, मधुमेह और कैंसर के जांच शामिल हैं। अभियान के तहत 1 फरवरी से लेकर 15 मार्च तक लोगों के घर जाकर हरेक परिवार का फोल्डर बनाना है। उन परिवारों में से 30 साल से अधिक आयु का समुदाय आधारित मूल्यांकन प्रपत्र भरा जाना है। इस प्रपत्र को एएनएम को दिए जाने पर उसकी एनसीडी एप्लीकेशन में एंट्री करायी गई थी । उसमें जिनकी एंट्री हुई थी उन्हें जांच के लिए मंगलवार को हेल्थ एंड वैलनेस सेन्टर बुलाया गया था। कैम्प में ग्लुकोमीटर, ग्लूको स्ट्रिप, लांसेट, बीपी मशीन, वेइंग मशीन , मेजरिंग टेप, स्टेडिओ मीटर से लोगों की जांच की गई। जिनका इलाज संभव था उन्हें वहीं से दवाएं दी गई । वहीं संदिग्ध मरीजों को बेहतर इलाज के लिए पीएचसी भेज गया। प्रभारी चिकित्सा पदाधिकारी डॉ एसके गुप्ता ने बताया फैमिली फोल्डर बनाने में सोन्धो पंचायत में 20 आशा, 1 आशा फैसिलटर तथा एंट्री में 4 एएनएम लगी हैं। अभी तक 600 परिवारों का फैमिली फोल्डर तैयार कर लिया गया है। जिनका फैमिली फोल्डर तैयार हो चुका है उनकी स्क्रीनिंग शुरू हो चुकी है। 15 मार्च से पहले पूरे क्षेत्र में फैमिली फोल्डर तैयार कर स्क्रीनिंग कर लिया जाएगा। इस स्क्रीनिंग के तहत टीबी रोग की जांच भी की जा रही है। मौके पर चिकित्सा पदाधिकारी डॉ सत्यनारायण पासवानं, डॉ कृष्णा कुमार,प्रखंड स्वास्थ्य प्रबंधक रेणु कुमारी, केयर बीएम अर्जुन कुमार, एमएनई शम्भू कुमार मौजूद थे।
क्या है गैर संचारी रोग गैर-संचारी रोग (एनसीडी) के अंतर्गत वह रोग आते हैं, जो एक व्यक्ति से दूसरे व्यक्ति में सीधे प्रसारित नहीं होते हैं। गैर-संचारी रोगों में कैंसर रोग,मधुमेह, स्वप्रतिरक्षित रोग, स्ट्रोक, अधिकांश हृदय रोग, मधुमेह रोग, गुर्दे की पुरानी बीमारी, अल्जाइमर रोग, मोतियाबिंद और अन्य रोग शामिल हैं।