दलालों के भरोसे चल रहा एआरटीओ ऑफिस

0
276
  • कौशांबी- एआरटीओ शंकर जी सिंह कभी भी समय पर अपने दफ्तर नही पहुंचते है। आज सुबह रियल्टीचेक के दौरान एआरटीओ साहब 11 बजे के बाद भी अपने दफ्तर से नदारत मिले। इस दौरान लाइसेंस धारक व परमिट बनवाने के लिए लोग दलालों के चक्कर काटने पर मजबूर दिखे। वैसे भी एआरटीओ साहब के लिए सूबे के सीएम योगी के कोई दिशा-निर्देश मायने नही रखते है। साहब का जब मन होता है तभी दफ्तर में बैठते है, और जब दिल कहता है तभी सड़क पर उतर कर वाहनों की चेकिंग की खानापूर्ति करते है। वैसे भी एआरटीओ ऑफिस का काम काज तो दलालों के भरोसे ही चल ही रहा है।