बहन के हत्यारोपी भाई को 24 घण्टे के अन्दर पुलिस ने साक्ष्य के साथ किया गिरफ्तार

0
254

बिहार संवाददाता सिकंदर राय की रिपोर्ट

बहन के हत्यारोपी भाई को 24 घण्टे के अन्दर पुलिस ने साक्ष्य के साथ किया गिरफ्तार

सहरसा – जब देर शाम सदर थाना पुलिस अपने क्षेत्र में कोरोना से निजाद दिलाने हेतु लोकडॉन के तहत लॉगऑन को घर मे रहने के लिए लाठी भांज रहे थे। वहीं सदर थाना के नरियार स्थित परसाहा गॉव में सगे भाई ने अपनी बहन को ही चाकू घोंप कर मौत के नींद सुला दिया। घटना के महज कुछ घंटे बाद सदर थाना की पुलिस ने शानदार कार्यशैली का परिचय देते हुए हत्यारोपी सुशील कुमार साह को साक्ष के साथ गिरफ्तार कर लिया है।बताते चलें कि जिले के सदर थाना के परसाहा गांव के वार्ड नंबर-1 में सनकी सगे भाई ने चाकू गोदकर अपनी 14 वर्षीय बहन की हत्या कर दी और मौके से फरार हो गया। शाम ढ़लते हुई इस घटना ने पूरे इलाके में सनसनी फैलाकर रख दी। मिली जानकारी के अनुसार मंगलवार को करीब साढ़े चार बजे नशे में धुत सनकी भाई अपने घर पहुंचा और पहले से तैयार प्लानिंग के आधार पर उसने अपनी बहन की हत्या कर दी। वह तब तक चाकू गोदता रहा जब तक बहन ने दम नहीं तोड़ दिया। घटना के संबंध में परिजनों ने जानकारी देते हुए बताया कि घटना के वक़्त वे सभी घर से बाहर थे। इसी दौरान यह घटना घटी है। इधर घटना के संबंध में मृतिका की मां ने बताया कि आरोपी शुशील साह अपने दोस्तों के साथ बराबर घर मे शराब लेकर आता और अपने दोस्तों के साथ घर मे शराब पीता था। जिसका विरोध पिता से लेकर परिवार के सभी लोग करते थे। पांच दिन पूर्व शुशील साह अपने दोस्तों के साथ घर में शराब पी रहा था। इसपर परिजनों ने उसे ऐसा करने से मना किया तो उसने सभी को जान से मारने की धमकी दी और चल गया। ग्रामीण सूत्रों के अनुसार बहन के हत्या का आरोपी सुशील की बहन का गॉव के ही एक लड़का से प्रेम प्रसंग चल रहा था। कई बार सुशील ने अपने बहन को समझाया लेकिन नही समझी। कल भी उसकी बहन गॉव के लड़का से बात करते देखा इस बात को लेकर आँगन में ही सुशील ने अपनी बहन को चाकू से घोंप कर मौत के नींद सुला दिया। घटना के सम्बन्ध में एसडीपीओ प्रभाकर तिवारी ने कहा कि मृतिका फूल कुमारी की मां ने सदर थाना में बयान देकर कही है कि उसके भाई सुशील कुमार ने चाकू घोंप कर हत्याकांड को अंजाम दिया है। बयान के आधार पर 24 घंटे के अंदर आरोपी सुशील को हत्या में किये गए हथियार एवं खून से लथपथ कपड़ा बरामद किया गया। मृतिका की माँ शारदा देवी के दिये बयान के अलावे भी कई अन्य बिन्दुओ पर भी अनुसंधान करने हेतु कांड के अनुसन्धानकर्ता मनोज कुमार बच्चन को निर्देश दिया गया है।