बेगूसराय में वाहन चेकिंग के नाम पर पुलिसिया गुंडागर्दी, युवक को पीटा

0
397

बिहार संवाददाता सिकंदर राय की रिपोर्ट

बेगूसराय : जहां एक तरफ बिहार पुलिस के महानिदेशक गुप्तेश्वर पांडे बिहार पुलिस के पब्लिक फ्रेंडली होने की बात करते हैं वहीं बेगूसराय में पुलिस के द्वारा जनता से दुर्व्यवहार करने का एक मामला प्रकाश में आया है।
बेगूसराय में अपराध और अपराधियों के बढ़ते मनोबल में बेतहाशा वृद्धि आज किसी भी बेगूसरायवासी से छिपी नही है, जीडी कॉलेज में गणतंत्र दिवस पर कैम्पस में छात्रसंघ के नेता हुए हमले और केस दर्ज होने के बाद भी नगर थाना का हाथ खाली है। बावजूद इसके बेखौफ अपराधियों पर नकेल लगाने के बजाय अब पुलिस निरीह जनता को हेलमेट जांच के नाम पर उनके साथ गुंडई करने लगी है।

बाइक चेकिंग के नाम पर होता है अवैध उगाही,उड़ता है कानून का मखौल

बेगूसराय के नगर थाना का आलम यह है कि प्रत्येक दिन शाम ढलते ही थाना गेट के बाहर थानेदारी शुरू हो जाती है। वहां 10 से 15 सिपाहियों को लगा दिया जाता है और ये सभी सिपाही हेलमेट की चेकिंग करने में जुट जाते हैं। जिनके पास हेलमेट नहीं रहता है उन्हें चालान कटवाना पड़ता है कभी कभी तो बाइक सवार को पुलिसवाले से सवाल करने पर मार भी खाना पर जाता है।ताजा मामला गुरुवार देर शाम की है।
जब लोहिया नगर के दो युवक अपने परिचित से मिलने अस्पताल जा रहे थे। बाइक चेकिंग के दौरान सिपाही ने नगर थाना गेट पर उनको रोका बाइक सवार के द्वारा कुछ पूछे जाने पर बदतमीजी शुरू कर दी। मोटरसाइकिल चालक ने जब इसका विरोध किया तो उसे खींचकर अंदर ले जाया गया और जमकर पिटाई की गई । पीड़ित ने बताया पुलिस वाले से हमने पूछा कि कुछ लोग को आप छोड़ क्यों रहे हैं इतने पे पुलिस वाले भड़क गए और जबरन खींच कर पीटना शुरू कर दिया।