मध्प्रदेश की खबरे NAC News channel के स्टेट ब्यूरो चीफ अनिल कुमार बोराणा द्वारा

0
78

मध्यप्रदेश में कोराना के मरीज की संख्या 562 हुईं इंदौर में 311ओर भोपाल में 134

भोपााल :-

*मुख्यमंत्री ने आज पत्रकारों से वीडियो कान्फ्रेंसिंग कर चर्चा की साथ ही पत्रकारों के सुझाव को भी अमल में लाने का आश्वासन दिया साथ ही उन्होंने ने कहा कि लॉक डाउन बड़ाया जाता है तो उसका स्वरूप अलग होगा उन्होंने कहा जिन जिलों मे अभी तक संक्रमण नही फैला  है वहाँ हम आर्थिक और व्यपारिक मामलों में एक सीमित दायरे मे छूट दे सकते है*

इंदौर :-

*कोरोना वायरस से लड़ाई हेतु इन्दौर पुलिस है पूरी तैयारी के साथ मुस्तैद*

 

▪ *इस वैश्विक महामारी से उत्पन्न स्थिति की चुनौतीपूर्ण ड्यूटी के लिये पुलिस कर्मियों के लिये किया जा रहा है हर प्रकार का प्रबंध*

 

▪ *कोरोना से बचाव हेतु लोगों में जागरूकता बढ़ाने तथा पुलिसकर्मियों को आवश्यक वस्तुएं पहुंचाने हेतु चलाया जा रहा हैं विशेष वाहन*

 

इन्दौर। वर्तमान परिदृश्य में Covid-19 Corona Virus की रोकथाम एवं बचाव के लिए इन्दौर पुलिस निरतंर प्रयासरत् है। इस महामारी से  पुलिसकर्मियों के बचाव के लिए पुलिस महानिरीक्षक इन्दौर ज़ोन इन्दौर विवेक शर्मा एवं पुलिस उप महानिरीक्षक इन्दौर शहर हरिनारायणचारी मिश्र के निर्देशन में पुलिस अधीक्षक मुख्यालय सूरज कुमार वर्मा व उनकी टीम द्वारा पुलिस कर्मियों की सुविधाओं एवं परेशानियों के निदान हेतु हर तरह के प्रबंध किये जा रहे है।

 

▪ डीआरपी लाईन इन्दौर में पुलिस विभाग के अधिकारियों – कर्मचारियों के लिए पुलिस वेलफेयर सेंटर की महिला नवआरक्षकों के द्वारा मास्क तैयार किये जा रहें है तथा डब्ल्यूएचओ द्वारा जारी कियें गये फाॅर्मूले से सैनेटाईजर भी तैयार किया जा रहा है। डीआरपी लाईन इन्दौर से मास्क, सैनेटाईजर की बाॅटल, हेण्डवाॅश व साबुन प्रत्येक थानों मे निशुल्क दिये जा रहे है जिससे की यह हर पुलिसकर्मी को प्राप्त हो सकें और वे सुरक्षा के साथ बिना किस व्यवधान के अपने कर्तव्य का पालन कर सके।

 

▪ प्रत्येक थानों पर इस बीमारी से संक्रमित मरीजों के क्षेत्रों में ड्यूटी करने वाले पुलिस कर्मियों के लिये पीपीई किट, एन-95 मास्क, ग्लब्स एवं बरसाती भी उपलब्ध करवायी जा रही है।

 

▪ इसी के साथ ही वरिष्ठ अधिकारियों के मार्गदर्शन में 40 जवानों की एक विशेष टास्क फोर्स तैयार की गयी है, जो पीपीई किट व अन्य स्वास्थ्य इक्वीपमेंट से लैस है, यह स्पेशल फोर्स किसी भी वायरस से संक्रमित मरीजों की सूचना मिलने पर पुलिस दल के रूप में उनकी मदद करने के लिये न केवल पूर्ण रूप से तैयार रहेगी, बल्कि प्रशासन एवं डाॅक्टरों के साथ विषम परिस्थितियों मे कंधे से कंधा मिलाकर काम भी करेगी।

 

▪ इन्दौर पुलिस को इस बीमारी के संक्रमण से बचाव हेतु समय-समय पर गर्म पानी एवं पेय पदार्थ उपलब्ध हो सके इसके लिये भी प्रत्येक थानों को हाॅट वाटर बाटलें एवं पानी गर्म करने की इलेक्ट्रिक केटली उपलब्ध करवायी गयी है।

 

▪ पुलिस कर्मियों द्वारा इस चुनौतीपूर्ण व कठिन ड्यूटी को अंजाम दिया जा रहा है और कई पुलिसकर्मी अपने घर के बजाये उनके लिये रूकने के लिये निर्धारित स्थानों पर अपने परिवार से दूर रह रहे है, ऐसें में उन पुलिस परिवार की मदद के लिये भी पुलिस परिवार हेल्पलाईन का संचालन किया जा रहा है और उनके राशन आदि के लिये पुलिस केंटीन एवं सब्जी आदि की भी व्यवस्था पुलिस लाईन में की गयी है।

 

▪ इस बीमारी का संक्रमण न हो व पुलिस निर्बाध रूप से इस मुश्किल घड़ी में अपने कर्तव्य का निर्वहन करती रहें, इसी को ध्यान में रखते हुए, सभी थानों एवं पुलिस कार्यालयों को सैनेटाईजेशन हेतु पुलिस कर्मियों को प्रशिक्षित कर, प्रतिदिन पुलिस थानों व कार्यालयों का सैनिटाईजेशन किया जा रहा है।

 

▪ पुलिस कर्मियों की हर सुविधा व उनका मनोबल बढ़ाने के उद्देश्य से हर प्रकार के प्रबंध करने का पूर्ण प्रयास किया जा रहा है।

 

*इसी तारतम्य में पुलिस उप महानिरीक्षक इन्दौर शहर श्री हरिनारायणचारी मिश्र एवं पुलिस अधीक्षक मुख्यालय श्री सूरज कुमार वर्मा द्वारा कोरोना से बचाव हेतु लोगों में जागरूकता बढ़ाने तथा पुलिसकर्मियों को आवश्यक वस्तुएं पहुंचाने हेतु विशेष वाहन को रवाना किया गया, जिसके माध्यम से उक्त लॉक डाउन के दौरान शहर के विभिन्न पॉइंट्स पर ड्यूटी में लगे पुलिस कर्मियों को आज हॉट वॉटर बॉटल, ट्रांसपेरेंट फेस प्रोटेक्टर, हैंड वॉश, मास्क, सैनेटाईजर, बिस्किट आदि प्रदाय किये गये।*

*कोरोना वायरस से लड़ाई हेतु इन्दौर पुलिस है पूरी तैयारी के साथ मुस्तैद*

 

▪ *इस वैश्विक महामारी से उत्पन्न स्थिति की चुनौतीपूर्ण ड्यूटी के लिये पुलिस कर्मियों के लिये किया जा रहा है हर प्रकार का प्रबंध*

 

▪ *कोरोना से बचाव हेतु लोगों में जागरूकता बढ़ाने तथा पुलिसकर्मियों को आवश्यक वस्तुएं पहुंचाने हेतु चलाया जा रहा हैं विशेष वाहन*

 

इन्दौर। वर्तमान परिदृश्य में Covid-19 Corona Virus की रोकथाम एवं बचाव के लिए इन्दौर पुलिस निरतंर प्रयासरत् है। इस महामारी से  पुलिसकर्मियों के बचाव के लिए पुलिस महानिरीक्षक इन्दौर ज़ोन इन्दौर विवेक शर्मा एवं पुलिस उप महानिरीक्षक इन्दौर शहर हरिनारायणचारी मिश्र के निर्देशन में पुलिस अधीक्षक मुख्यालय सूरज कुमार वर्मा व उनकी टीम द्वारा पुलिस कर्मियों की सुविधाओं एवं परेशानियों के निदान हेतु हर तरह के प्रबंध किये जा रहे है।

 

▪ डीआरपी लाईन इन्दौर में पुलिस विभाग के अधिकारियों – कर्मचारियों के लिए पुलिस वेलफेयर सेंटर की महिला नवआरक्षकों के द्वारा मास्क तैयार किये जा रहें है तथा डब्ल्यूएचओ द्वारा जारी कियें गये फाॅर्मूले से सैनेटाईजर भी तैयार किया जा रहा है। डीआरपी लाईन इन्दौर से मास्क, सैनेटाईजर की बाॅटल, हेण्डवाॅश व साबुन प्रत्येक थानों मे निशुल्क दिये जा रहे है जिससे की यह हर पुलिसकर्मी को प्राप्त हो सकें और वे सुरक्षा के साथ बिना किस व्यवधान के अपने कर्तव्य का पालन कर सके।

 

▪ प्रत्येक थानों पर इस बीमारी से संक्रमित मरीजों के क्षेत्रों में ड्यूटी करने वाले पुलिस कर्मियों के लिये पीपीई किट, एन-95 मास्क, ग्लब्स एवं बरसाती भी उपलब्ध करवायी जा रही है।

 

▪ इसी के साथ ही वरिष्ठ अधिकारियों के मार्गदर्शन में 40 जवानों की एक विशेष टास्क फोर्स तैयार की गयी है, जो पीपीई किट व अन्य स्वास्थ्य इक्वीपमेंट से लैस है, यह स्पेशल फोर्स किसी भी वायरस से संक्रमित मरीजों की सूचना मिलने पर पुलिस दल के रूप में उनकी मदद करने के लिये न केवल पूर्ण रूप से तैयार रहेगी, बल्कि प्रशासन एवं डाॅक्टरों के साथ विषम परिस्थितियों मे कंधे से कंधा मिलाकर काम भी करेगी।

 

▪ इन्दौर पुलिस को इस बीमारी के संक्रमण से बचाव हेतु समय-समय पर गर्म पानी एवं पेय पदार्थ उपलब्ध हो सके इसके लिये भी प्रत्येक थानों को हाॅट वाटर बाटलें एवं पानी गर्म करने की इलेक्ट्रिक केटली उपलब्ध करवायी गयी है।

 

▪ पुलिस कर्मियों द्वारा इस चुनौतीपूर्ण व कठिन ड्यूटी को अंजाम दिया जा रहा है और कई पुलिसकर्मी अपने घर के बजाये उनके लिये रूकने के लिये निर्धारित स्थानों पर अपने परिवार से दूर रह रहे है, ऐसें में उन पुलिस परिवार की मदद के लिये भी पुलिस परिवार हेल्पलाईन का संचालन किया जा रहा है और उनके राशन आदि के लिये पुलिस केंटीन एवं सब्जी आदि की भी व्यवस्था पुलिस लाईन में की गयी है।

 

▪ इस बीमारी का संक्रमण न हो व पुलिस निर्बाध रूप से इस मुश्किल घड़ी में अपने कर्तव्य का निर्वहन करती रहें, इसी को ध्यान में रखते हुए, सभी थानों एवं पुलिस कार्यालयों को सैनेटाईजेशन हेतु पुलिस कर्मियों को प्रशिक्षित कर, प्रतिदिन पुलिस थानों व कार्यालयों का सैनिटाईजेशन किया जा रहा है।

 

▪ पुलिस कर्मियों की हर सुविधा व उनका मनोबल बढ़ाने के उद्देश्य से हर प्रकार के प्रबंध करने का पूर्ण प्रयास किया जा रहा है।

 

*इसी तारतम्य में पुलिस उप महानिरीक्षक इन्दौर शहर श्री हरिनारायणचारी मिश्र एवं पुलिस अधीक्षक मुख्यालय श्री सूरज कुमार वर्मा द्वारा कोरोना से बचाव हेतु लोगों में जागरूकता बढ़ाने तथा पुलिसकर्मियों को आवश्यक वस्तुएं पहुंचाने हेतु विशेष वाहन को रवाना किया गया, जिसके माध्यम से उक्त लॉक डाउन के दौरान शहर के विभिन्न पॉइंट्स पर ड्यूटी में लगे पुलिस कर्मियों को आज हॉट वॉटर बॉटल, ट्रांसपेरेंट फेस प्रोटेक्टर, हैंड वॉश, मास्क, सैनेटाईजर, बिस्किट आदि प्रदाय किये गये।*

धार :-

 

कलेक्टर एवं जिला दंडाधिकारी श्रीकांत बनोठ ने जानकी नगर धार में एक व्यक्ति के कोरोना पॉजिटिव पाए जाने से क्षेत्र को कंटेनमेंट एरिया घोषित किया है। उन्होने इपीसेंटर से तीन किमी की परिधी में आने वाले क्षेत्र को कंटेनमेंट एरिया घोषित किया है। इस क्षेत्र के समस्त घरों का सर्वे निर्धारित प्रपत्र में अनिवार्यतः किया जावेगा। इससे लगे पांच किमी की परिधी के अतिरिक्त क्षेत्र को बफर जोन घोषित किया गया है। कंटेनमेंट एरिया के अंतर्गत पूर्ण रूप से आवागमन प्रतिबंधित रहेगा। कंटेनमेंट एरिया के समस्त निवासियों का होम कोरेंटाईन में रहना उचित होगा। कन्टेंमेंट एरिया से तीन कि.मी. की परिधी को पेरीमीटर कन्ट्रोल किया जाना होगा जिसके अंतर्गत आवश्यक सुविधाओं के अतिरिक्त किसी भी प्रकार से व्यक्तियों का बाहर जाना प्रतिबंधित रहेगा। उन्होने कन्टेनमंट एरिया हेतु सी.एम.एच.ओ. को निर्देश दिए है कि विशेष आर.आर.टी. जिसके अंतर्गत एक फिजिशियन, एक एपीडिमियोलाजिस्ट पेथाॅलाजिस्ट, माईक्रोबायोलाजिस्, डाक्यूमेंटेशन स्टाॅफ रखा जाना होगा व मेडिकल मोबाईल यूनिट जिसके अंतर्गत एक मेडिकल आॅफिसर, एक पेरामेडिकल स्टाॅफ, लेब टेक्निशियन व डाक्यूमेंटेशन स्टाॅफ का गठन किया जाए। उक्त क्षेत्र के एक्जिट पाईंट पर स्वास्थ्य कर्मचारियों द्वारा सतत् स्क्रीनिंग की जायेगी। समस्त वार्डवार फ्रंटलाईन स्वास्थ्य कार्यकर्ता – एलएचवी, एएनएम, आशा, आंगनवाडी कार्यकर्ता एवं सुपरवाईजर (एम.पीडव्ल्यु.-टीबी एच व्ही) टीमवाईज एपीसेन्टर से प्रतिटीम न्यूनतम 50 घरों का भ्रमण कर जानकारी लेते हुये निर्धारित प्रोफार्मा-2 में रिपोर्ट नोडल अधिकारी को अनिवार्यतः उपलब्ध कराना सुनिश्चित करेंगे। समस्त टीम कोविड-19 सस्पेक्टेड केस की माॅनिटरिंग प्रतिदिन करेंगे एवं कोविड-19 संक्रमण की संभावित लक्षण जैसे बुखार, खासी, गले में दर्द, एवं श्वास लेने में तकलीफ आदि लक्षण आने पर आर.आर. टीम को सूचना देना सुनिश्चित करेंगें। समस्त कोविड-19 संक्रमण के पाॅजिटिव केस के परिजन, निकट संपर्क को होम कोरेन्टाईन कराना जाना अति आवश्यक है। जिससे संक्रमण को समुदाय में फैलने से रोका जा सके। जिनको ‘‘होम कोरेन्टाईन‘‘ किया गया है उनका प्रतिदिन फाॅलोअप लेना होगा (विजिट या दूरभाष के माध्यम से) जब तक की सस्पेक्टेड केस का रिजल्ट नेगेटिव ना आ जाये और यदि रिजल्ट पाॅजिटिव आता है तो, संबंधित के काॅन्टेक्ट को 14 दिन तक होम कोरेन्टाईन में रखना होगा एवं फाॅलोअप 28 दिन तक प्रतिदिन रखना होगा। संक्रमण आगे फैलने से रोकने हेतु त्वरित कार्यवाही अंतर्गत संदिग्ध संक्रमित की काॅन्टेक्ट ट्रेकिंग करते हुए समस्त संबंधितों से अनिवार्यतः संपर्क किया जाकर उन्हें भी होम कोरेंटाईन करवाने की कार्यवाही व उनकी भी प्रतिदिन संपर्क करते हुये संपर्क एवं ट्रेकिंग की रिपोर्टिग किया जाना सुनिश्चित करें। सस्पेक्टेड केस को सेक्टर मेडिकल आॅफिसर/आर.आर.टी. द्वारा परीक्षण किये जाने तक एक अलग चिन्हित कमरे में आईसोलेशन में रखा जाना सुनिश्चित करना है एवं समस्त परिवार को फेस मास्क उपलब्ध कराते हुये हेण्ड हाईजीन और पर्सनल हाईजीन के प्रोटोकोल पालन करवाना सुनिश्चित करें। समस्त कार्यकर्ता पीपीई प्रोटोकोल का पालन करना सुनिश्चित करेंगे।

रतलााम :-

रतलाम 12 अप्रेल दैनिक स्वतंत्र एल इसीान

कोरोना के कोहराम से विश्व अचंभित हैं इस वैश्विक महामारी से निजात पाने के लिए हर संभव प्रयास किए जा रहे हैं । और यह प्रयास कुछ प्रदेश विधानसभा उसके ज़िलों में हद तक सफल भी हो रहें हैं । रतलाम जिले का शासकीय चिकित्सा महाविद्यालय इस त्रासदी से निपटने के लिए एक आदर्श स्थल है जो ज़िले की सभी तहसीलों से सुलभ पहुंच क्षेत्र में आता है ।

मुसिबत के इस विकट समय में इस महाविद्यालय में 40बिस्तरों वाला आइसोलेशन वार्ड है जो इस समय वक्त की दरकार में उचित नहीं है यह वार्ड रतलाम जिले की जनसंख्या के अनुरूप नहीं है इसमें 40बिसतरों की बजाय 200बिस्तरों की संख्या होना वक्त के हालात की दरकार है ।

साथ ही कोरोना महामारी से निपटने के लिए यहां गंभीर रोगियों के लिए 160विशेषज्ञ कार्यरत हैं प्रत्येक 10मरीजों के उपचार हेतु 1विशेषज्ञ की आवश्यकता होती है ।उसी तरह यहां 200 बिस्तरों के लिए 60 विशेषज्ञों की आवश्यकता होगी जो यथोचित संख्या है ।

मेडिकल कॉलेज में एक डिपार्टमेंट होता है PSM   (प्रीवेंटिव  ऐंड सोशल मेडिसिन ) जिसमे महामारियों पर अंकुश रोगीयों को बचाने , महामारी को फैलने से बचाने के दक्ष विशेषज्ञ होते हैं ।इस डिपार्टमेंट में प्रोफेसर से लेकर डिमांस्ट्रेटर तक की फेकल्टी होती है ।  रतलाम जिला इस संदर्भ में खुशगवार है कि यह विश्वविद्यालय सभी सुविधाओं से परिपूर्ण होकर इसके डिपार्टमेंट के पूर्ण स्टाफ में यथोचित संख्या में विशेषज्ञ है ।

इस विश्वविद्यालय के डीन डॉ संजय दीक्षित भी इसी विषय के विशेषज्ञ है कोरोना महामारी के चलते रतलाम जिले की सम्पूर्ण स्वास्थ्य सेवाएं मेडिकल कॉलेज के   PSMविभाग और डीन डॉ संजय दीक्षित के मार्गदर्शन में संचालित होना वक्त की दरकार है ।

साथ ही जिला चिकित्सालय रतलाम को पूर्ववत संचालित किया जाना शहरी रहवासियों की दरकार है ।

शहर के सभी चिकित्सक और आईएमए के सदस्य इस महामारी से रोगीयों निजात दिलाने के लिए हरसंभव प्रयास करने के प्रतिबध्द और समर्पित है ।

मध्यप्रदेश आंचलिक पत्रकार संघ के प्रदेशाध्यक्ष *रमेश टाक* ने मध्यप्रदेश के  माननीय राज्यपाल प्रदेश के मुख्यमंत्री माननीय शिवराज सिंह चौहान संभागायुक्त उज्जैन एवं जिलाधीश रतलाम से मांग की है कि महामारी कोरोना के इस विकट संकट से निपटने के लिए मेडिकल विश्वविद्यालय रतलाम में शीघ्र 40बेड की बजाय 250 बेड  का वार्ड किया जाए तथा सीएमएचओ प्रभाकर नानावरे के स्थान पर शासकीय चिकित्सा विश्वविद्यालय के डीन श्री संजय दीक्षित को पूर्ण कालीन संचालक बनाया जाए साथ ही विश्वविद्यालय के समस्त स्टाफ को इस महामारी की रोकथाम मे संलग्न किया जाए ।

प्रेषक रमेश टाक सम्पादक -दैनिक स्वतंत्र एलान

प्रदेशाध्यक्ष -मध्यप्रदेश आंचलिक पत्रकार संघ भोपाल