महिला दिवस एवं होली मिलन, सम्मान समारोह

0
263

पौराणिक देव भूमि समिति द्वारा आज अन्तरराष्ट्रीय महिला दिवस एवं होली मिलन, सम्मान समारोह कार्यक्रम प्रतीत नगर ,रायवाला के चन्द्र गार्डन , होशियारी में किया गया , जिसमे मुख्य अतिथि श्री दिनेश धनै पूर्व राज्य मंत्री उत्तराखंड सरकार रहे ।
अन्तरराष्ट्रीय महिला दिवस एवं होली मिलन, सम्मान समारोह का आयोजन प्रतीत नगर ,रायवाला (देहरादून) में किया जा रहा है । जिसमे महिलाओ व छोटे छोटे बच्चो द्वारा सांस्कृतिक कार्यक्रम किये गए ।
पौराणिक देव भूमि समिति के संस्थापक श्री सुमन धस्माना ने बताया उत्तराखंड की संस्कृति ,मेले , समारोह आदि करवाते ही रहते है ।
सुप्रसिद्ध लोक गायक विनोद विजल्वाँण सुप्रसिद्ध गायिका आराधना एवं कथक नृत्यॉगना शारदा ध्यानी एवं साथी कलाकारों द्वारा विभिन्न प्रकार के सांस्कृतिक कार्यक्रम प्रस्तुत किये जा रहे है । पौराणिक संस्कृति को संजोए रखने का संदेश
रंग कर्मियों ने नाटकों, नृत्य से दी शानदार प्रस्तुति
उत्तराखंड अपनी सांस्कृतिक विविधता और समरसता के कारण देश के श्रद्धालुओं,जिज्ञासुओं और शोधार्थियों के लिए आकर्षण का केंद्र रहा है।
आगे धस्माना जी बताते है कि उत्सव, मेले और त्योहारों का मनुष्य के सामाजिक जीवन में अहम् स्थान होता है। वो किसी भी देश, धर्म, सम्प्रदाय में निवास करता हो लेकिन स्वभावतः मनुष्य उत्सव प्रेमी है। विभिन्न प्रकार के धर्म और सम्प्रदायों में विश्वास करते हुए पूरी दुनियां में मनुष्यों ने हजारों प्रकार के उत्सवों का सृजन किया। कुछ उत्सव खानपान, रहन-सहन के तौर तरीकों के साथ छोटे रूप में पैदा होकर आदमी के विकास के साथ विकसित हुए। कुछ उत्सव किसी घटना विशेष के बाद अस्तित्व में आयें। कुछ उत्सव मनुष्य की खास जरूरतों के कारण समाज द्वारा रचाये गये। कुछ उत्सव मौसम के बदलते रूप-रंग से उत्पन्न खुशी के कारण जीवन्त हुए। दुनिया के लोगों में धर्म, क्षेत्र, जाति, सम्प्रदाय, रंग आदि के हिसाब से जितनी विविधता है उतनी ही विविधता इनके उत्सवों में भी है।
ह्यूमन राइट्स लाइव के जिला प्रभारी डॉ. संतोष चमोली की कलम से ।