आज मेरा मुंबई घायल है, आज मेरे मुंबई को इलाज की जरूरत है । आज मेरा मुंबई संक्रमित है । आज मेरा मुंबई मायूस है । लेकिन में आज भी मुंबई में हूं, मै कल भी मुंबई में ही था, और मै कल भी मुंबई में ही रहूंगा । ये मेरा मुंबई है । मै मेरे शहर को मरने नहीं दूंगा । मै लड़ूंगा, मै संघर्ष करूंगा लेकिन में मुंबई को मरने नहीं दूंगा । मुंबई मेरा कर्म स्थान ही नहीं मुंबई मेरा घर है । मुंबई मेरे लिए व्यापार का गढ़ नहीं बल्कि मुंबई ही मेरा परिवार है । मुंबई मुंबईकरो की सासो में धड़कता है ।
मैं यही रहूँगा।
क्युकी में मुंबईकर हूं ।

“मी मुंबईकर 💪💪💪💪जय जय महाराष्ट्र माझा👍

Manoj Singh

Navi Mumbai Reporter