रोसड़ा प्रखंड के महुली गांव स्थित राजकीय मध्य विद्यालय की गाथा

0
361

बिहार संवाददाता सिकंदरा एक रिपोर्ट :-

रोसड़ा प्रखंड के महुली गांव स्थित राजकीय मध्य विद्यालय महुली में विद्यालय के प्रधानाध्यापक ने बताया विद्यालय में 690 छात्र-छात्रा नामांकित है ।उपस्थिति 233 छात्र-छात्रा शिक्षक एवं शिक्षिका विद्यालय में प्रधानाध्यापक मोहम्मद फहीम अहमद शिक्षक ज्ञानरंजन ,सविता कुमारी ,रेणु कुमारी, सुशील कुमार, मनोज कुमार ,सचिन कुमार ,मोहम्मद जुनेद वहीं पर शिक्षक रजनीश कुमार डिप्रेशन में होने की बात बताई ।विद्यालय में 8 शिक्षक रहने के बावजूद विद्यालय की दुर्दशा इतनी दयनीय है कि प्रधानाध्यापक अपने मुख से बयां करते हुए बड़े अफसोस जाहिर की ।प्रधानाध्यापक मोहम्मद फहीम अहमद ने यही कहा कि विद्यालय के कमरा की संख्या 21 है चापाकल दो है लेकिन एक कई वर्ष से खराब है। शौचालय रूम की बात करें तो 10 नाम का खड़ा है। प्रधानाध्यापक ने यह भी बताया कि विद्यालय में स्थानीय शिक्षक होने के कारण राजनीतिक में लिप्त है। जिस कारण विद्यालय में छात्र छात्रा को गुणवत्तापूर्ण शिक्षा प्राप्त नहीं हो पा रही है ।वर्ष 2016 -17 से लेकर अब तक छात्र-छात्राओं को छात्रवृत्ति भी नहीं मिली है। शिक्षक रजनीश कुमार डिपटेशन कराकर हनुमान नगर उत्क्रमित विद्यालय एक में चला गया क्योंकि उन्हें यहां से राजनीति करने में असुविधा हो रही थी।
वहीं पर ग्रामीण ने बताया कि विद्यालय में कभी भी शिक्षा समिति की बैठक नहीं हुई है। शिक्षक ससमय विद्यालय नहीं आते हैं ।आप जब भी विद्यालय आते हैं लेट से आते हैं और 2:30 बजने के बाद विद्यालय से शिक्षक फरार होने लगते हैं।