रोसड़ा वार्ड नंबर 17 स्थित प्राथमिक विद्यालय लक्ष्मीपुर में भारी लापरवाही बरती जा रही है।

0
544

बिहार संवाददाता सिकंदर राय की रिपोर्ट:-

विद्यालय में कई वर्षों से शिक्षा समिति एवं विद्यालय के शिक्षक के बीच बैठक नहीं हुई है।
विद्यालय के प्रधानाध्यापक के कार्यशैली को देखकर विद्यालय के शिक्षा समिति के अध्यक्ष एवं ग्रामीणों में आक्रोश देखने को मिला।
बता दें कि विद्यालय में नामांकन कुल 114 छात्र छात्रा है लेकिन उपस्थिति की बात करें तो 70 की संख्या में छात्र छात्रा विद्यालय में उपस्थित हो पाते हैं।
विद्यालय में शिक्षक की बात करें तो कुल 7 शिक्षक है। शिक्षा व्यवस्था चौपट दिख रहा है शुक्रवार के दिन बच्चे को मध्यान्ह भोजन में पुलाव सलाद काबुली चना का छोला या लाल चने की छोला देने की मीनू चार्ट बना हुआ है लेकिन विद्यालय के प्रधानाध्यापक राजेन्द्र पासवान द्वारा बच्चे को आलू गोभी का सब्जी एवं चावल मध्यान भोजन में बच्चे को खिलाए। छात्र-छात्राओं ने बताया कि शौचालय में हमेशा ताला लटकी हुई रहती हैं। शौच के लिए विद्यालय कंपास से बाहर जाना पड़ता है।

विद्यालय के प्रधानाध्यापक का किया कहना है।

विद्यालय के प्रधानाध्यापक राजेन्द्र पासवान से मध्यान भोजन को लेकर पूछे जाने पर उन्होंने कहा कि चना फूलने के लिए नहीं दिया गया था जिस कारण आज आलू गोभी का सब्जी चावल एवं अंडा मध्यान भोजन में बच्चे को खिलाया गया है।

विद्यालय शिक्षा समिति के अध्यक्ष क्या कहा।

विद्यालय के शिक्षा समिति के अध्यक्ष अरुण कुमार यह बताया कि विद्यालय में बहुत सारी लापरवाही बरती जा रही है विद्यालय में साफ-सफाई से लेकर पठन-पाठन में भी लापरवाही बरती जा रही है बच्चे को मध्यान भोजन स्वच्छ नहीं दिया जा रहा है।
विद्यालय में प्रधानाध्यापक अपने शिक्षक एवं शिक्षा समिति के सदस्य अध्यक्ष के साथ कभी बैठक नहीं की है तो नहीं किसी प्रकार की बात बताई है विद्यालय अनमाने ढंग से चल रही है किसी भी प्रकार के जानकारी से विद्यालय के प्रधानाध्यापक राजेंद्र पासवान द्वारा शिक्षा समिति के सदस्य एवं अध्यक्ष को वंचित रखा जा रहा है
शिक्षा समिति के अध्यक्ष अरुण कुमार ने यह भी बताया कि विद्यालय में छात्र छात्रा के अनुकूल शिक्षक की संख्या अधिक है इसलिए सरकार एवं शिक्षा विभाग को आवेदन लिखकर यहां से शिक्षक को आवश्यक अनुकूल ही रखा जाए बाकी शिक्षक को किसी अन्य विद्यालय में शिक्षक को शिफ्ट किया जाए ऐसी दरख्वास्त करेंगे।

शिक्षा पदाधिकारी का क्या कहना है।
रोसड़ा प्रखंड शिक्षा पदाधिकारी संजय कुमार से दूरभाष पर विद्यालय से संबंधित पूछे जाने पर उन्होंने कहा कि बच्चे को पुलाव काबुली चना का छोला सलाद अथवा लाल चने की छोला चावल सलाद देने की बात है अगर ऐसा उन्होंने नहीं की है आलू गोभी का सब्जी चावल दिया है तो जांच कर उन पर कार्रवाई की जाएगी।