लॉकडाउन के कारण घरेलू हिंसा के मामलों में हुई बढ़ोतरी, अप्रैल महीने में मिली 315 शिकायतें

0
264

बिहार संवाददाता सिकंदर राय की रिपोर्ट

बढ़ती घरेलू हिंसा की शिकायतों को देखते हुए आयोग की अध्यक्ष रेखा शर्मा ने सीधे तौर पर लॉक डाउन को जिम्मेदार ठहराया है, जो 25 मार्च से देश में लागू हुआ है। इसी के मद्देनजर आयोग की ओर से एक व्हाट्सएप नंबर 72177 35372 जारी किया गया है जिस पर पीड़ित महिलाएं शिकायत दर्ज कर सकती है।आपको जानकारी दे दे कि इस नंबर पर कई शिकायत भी कराई गई है जिसमें से एक मामला था कि एक युवती को उसके माता-पिता ने घर पर बहुत पीटा था कि वह शादी के लिए राजी हो जाए, फिलहाल उसे पुलिस ने शेल्टर होम में रखा है।

एक और मामला त्रिपुरा से भी सामने आया है जहां एक भाई ने आयोग से यह शिकायत दर्ज कराई है कि उसकी बहन को उसके ससुराल ने बहुत पीटा है। गौरतलब है कि जब से देश में लॉक डाउन लागू हुआ है तब से हर कोई पूरी तरह से अपने अपने घर में बंद है। इसी दौरान किसी भी बात पर पति पत्नी और परिवार के साथ किसी बात को लेकर बहस होने के कारण हिंसा बढ़ रही है।
कुल शिकायतों में घरेलू हिंसा का आंकड़ा सबसे ज्यादा : कुल आंकड़ों की अगर बात की जाए तो सबसे ज्यादा शिकायतें महिलाओं के खिलाफ सामने आई है, जिसकी संख्या 800 से ज्यादा है। अगर घरेलू हिंसा के अलावा देखा जाए तो एक और अन्य मामला जिसमें वृद्धि हुई है वह है साइबर क्राइ। अप्रैल महीने में इसकी शिकायत में काफी वृद्धि हुई है, जबकि फरवरी और मार्च में यह सबसे कम था।