सिपाही गोलीकांड का हुआ उद्द्भेदन, दो अपराधी हथियार, कारतुस व बाईक के साथ गिरफ्तार

0
121

बिहार संवाददाता सिकंदर राय की रिपोर्ट

सिपाही गोलीकांड का हुआ उद्द्भेदन, दो अपराधी हथियार, कारतुस व बाईक के साथ गिरफ्तार

सहरसा – बीते कल जिला मुख्यालय स्थित स्टेडियम में कोरोना वायरस को लेकर बनाये गए प्रसाशनिक कैम्प में ड्यूटी कर वापस पुलिस लाईन लौट रहे प्रशिक्षु सिपाही को बेखौफ अपराधियों ने गोली मारकर जख्मी कर दिया। जख्मी प्रशिक्षु सिपाही के बयान के आधार पर सहरसा सदर थाना कांड संख्या 297/20 दिनांक 02/04/2020 धारा 307 भा०द०वि० एवं आर्म्स एक्ट दर्ज किया गया था। घटना के आलोक में सदर एसडीपीओ प्रभाकर तिवारी के नेतृत्व में सदर थानाध्यक्ष राकेश कुमार सिंह, जेआसाई द्रवेश कुमार, इंस्पेक्टर राजमणी, टेक्निकल सेल प्रभारी मंगलेश मधुकर एवं केस के अनुसंधानकर्ता अभिषेक अंजन गठित टीम द्वारा प्राप्त इनपुट के आधार पर छापेमारी की गई। जिसमें सदर थाना क्षेत्र के रिप्यूजी कॉलोनी निवासी विनोद यादव का पुत्र अमरजीत उर्फ बंका यादव एवं नवहट्टा थाना क्षेत्र के विरजाईन निवासी रवेन्द्र यादव का पुत्र नरेश यादव को गिरफ्तार किया जबकि एक अन्य अभियुक्त की गिरफ्तारी के लिए पुलिस जगह जगह छापेमारी कर रही है। पुलिस अधीक्षक राकेश कुमार ने आयोजित प्रेस वार्ता के दौरान बताया कि जेल में बंद महिषी थाना क्षेत्र के सिरवार निवासी सकलदेव यादव का पुत्र प्रभाकर यादव जिसका लम्बा आपराधिक इतिहास है। जिसके ऊपर जिला के महिषी थाना में हत्या सहित कई संगीन लगभग दर्जन भर कांडों में अभियुक्त है। पुलिस के गिरफ्त में आये अपराधी बंका का भी लम्बा आपराधिक इतिहास रहा है। इसके ऊपर कई संगीन अपराध का मामला सदर थाना में दर्ज है। पुलिस ने अपराधी के पास से गोलीकांड में उपयुक्त लोडेड देशी कट्टा, मोटरसाइकिल व एक जिंदा कारतूस बरामद किया। उन्होंने बताया कि जेल में बर्चस्व कायम करने के लिए जेल में बन्द प्रभाकर यादव द्वारा अन्य कैदियों को को परेशान किया जाता था। जेल में बढ़ते हुए तनाव देखते हुए जेल प्रशासन द्वारा कैदियों को शांत करने हेतु बल का प्रयोग किया गया। जिससे रुष्ट होकर कैदी प्रभाकर ने सिपाही को जान से मारने की सुपारी बंका यादव को दिया। बंका ने दो अन्य साथियों के साथ मिलकर जेल के बाहर तैनात सिपाही का काम तमाम करने के नियत से एक मोटरसाइकिल पर सवार तीन युवक चले। जेल गेट से कुछ कदम दूर दो अन्य साथी जेल प्रशासन की मुस्तैदी का हवाला देते हुए वहां जाने से मना किया और गाड़ी से उतर गया लेकिन नशे में धुत बंका ने अकेले ही जाकर उक्त घटना को अंजाम दिया और वहां से दफा हो गया। पुलिस कप्तान ने मीडियाकर्मियों को जानकारी देते हुए कहा कि जेल में बंद सिपाही की हत्या की साजिश रचने वाले कैदी को रिमांड पर लाकर पूछताछ किया जायेगा साथ ही कांड के उद्द्भेदन में शामिल सभी को यह मेरे द्वारा अनुशंसा किया जायेगा कि कोसी रेंज के डीआईजी द्वारा सम्मानित किया जाय। वहीं मीडिया के समक्ष शातिर अपराधी बंका ने कहा कि जेल के अंदर से मुझे प्रभाकर ने कहा कि अमरजीत सिंह जेल सिपाही ने बहुत प्रताड़ित कर रखा है उसे ठिकाना लगा दो। आदेश के आलोक में मैंने उक्त घटना को अंजाम दिया। मौके पर सदर एसडीपीओ प्रभाकर तिवारी, सदर थानाध्यक्ष राकेश कुमार सिंह, जेआसाई द्रवेश कुमार, इंस्पेक्टर राजमणी, टेक्निकल सेल प्रभारी मंगलेश मधुकर, एसआई अभिषेक अंजन सहित अन्य मौजूद रहे।