हरिदासपुर सूर्य मंदिर (पोखरा) पर जुटेंगे हजारों छठ व्रती

0
434

गया :परैया प्रखण्ड से लगभग 10 किलोमीटर दक्षिण एवं गया-शेरघाटी मार्ग पर वायरलेस से 7 किलोमीटर पश्चिम हरिदासपुर गांव में पोखरा पर स्थित भगवान भास्कर की मंदिर एक अलग ही पहचान रखती है। यह मंदिर स्थानीय गांव के निवासी जो कायस्थ समाज से आते हैं श्री बिंदेश्वरी प्रसाद के द्वारा सन 2002 ईस्वी में निर्माण करवाया गया हैं। इस मंदिर में अरुण कुमार सिन्हा,कृष्णदेव बिहारी उर्फ कृष्णा साव, भरत कुमार,अमित कुमार, सन्टू कुमार भक्तगण के रूप में हमेशा श्रद्धा भाव से लगे रहते हैं। इनलोगों का कहना है कि हर साल हजारों की संख्या में छठवर्तीया आते हैं। इस बार भी हर साल की तरह हजारों से ज्यादा संख्या में छठ व्रतियों की आने की उम्मीद है। इस सूर्य मंदिर पोखरा पर अर्ध्य देने आने का सबसे बड़ा कारण यह है कि यहां की साफ-सफाई, शुद्ध पर्यावरण के साथ साथ प्रदूषण मुक्त वातावरण माना जाता है। सरकार के द्वारा छठ पूजा पर कोई उचित व्यवस्था भी नहीं किया जाता है। गाँव के निवासी भरथ कुमार का कहना है कि यहा जो पोखरा है वो काफी बङा एवं गहरा भी है। जिससे कि जान माल का खतरा बना रहता है आये दिन कोई न कोई घटना होते रहता हैं। पोखरा के चारो ओर सिढी निर्माण के मोहताज है लेकिन इसपर सरकार का कोई ध्यान तक नहीं है ना ही कभी इस क्षेत्र के विधायक आते हैं और ना ही सासंद। यहाँ पर छठ पूजा में जो भी व्यवस्था की जाती है वह मंदिर के निर्माता एवं स्थानीय गांव के निवासियों के द्वारा किया जाता है।

संवाददाता : अभिजीत कुमार