अफवाहों पर नहीं दें ध्यान, कोरोना के प्रति जागरूक रहने की हैं जरूरत : सिविल सर्जन

0
322

बिहार संवाददाता सिकंदर राय की रिपोर्ट

अफवाहों पर नहीं दें ध्यान, कोरोना के प्रति जागरूक रहने की हैं जरूरत : सिविल सर्जन

– कोरोना को लेकर क्षेत्र में अफवाहों का बाजार गर्म
– जरा सी सर्दी-खांसी होने पर क्षेत्र में फैल जाती है अफरा-तफरी
– कोरोना से निपटने के लिए स्वास्थ्य विभाग पूरी तरह तैयार
– सदर अस्पताल सहित दो अन्य स्वास्थ्य केंद्रों में बनाया गया है आइसोलेशन वार्ड

पूर्णिया : 17 मार्च

नोवेल कोरोना-वायरस से बिहार ही नहीं बल्कि देश व विदेशों में भी इसका कहर देखने को मिल रहा हैं। हर तरफ अफवाहों का बाजार गर्म है। आलम यह है कि कहीं भीड भाड़ वाले क्षेत्र में लोग थोड़ा सा भी सर्दी या खांसी करते हैं तो लोग घबराने लगते हैं और तुरंत स्वास्थ्य विभाग को फोन लगा देते हैं। इसलिए सिविल सर्जन ने लोगों से अपील की है कि कोरोना को लेकर अफवाहों पर ध्यान न दें व जितना अधिक हो सके इसके प्रति जागरूक रहें और अपनी साफ-सफाई का ध्यान रखें।

अफवाहों पर न दें ध्यान :
सिविल सर्जन डॉ मधुसूदन प्रसाद ने बताया क्षेत्र के लोग विशेष तौर पर गांव में लोग कोरोना वायरस को लेकर ज्यादा जागरूक नहीं है। उन्हें इसकी ज्यादा जानकारी नहीं है कि आम सर्दी-खांसी व कोरोना के लक्षण अलग-अलग होते हैं। इसलिए किसी को थोड़ा सा भी आम सर्दी-खांसी होने पर भी लोग गंभीर होकर स्वास्थ्य विभाग को सूचित कर देते हैं। इससे क्षेत्र में अफरा-तफरी के साथ ही स्वास्थ्य विभाग को भी परेशानी होती है। उन्होंने बताया ऐसे लोग जो विदेश से आ रहे हैं या दूसरे राज्यों से घर आ रहे हैं स्वास्थ्य विभाग उन्हें ज्यादा फोकस कर रही है।स्वास्थ्य अधिकारियों द्वारा ऐसे लोगों को घर में ही जाकर जांच की जा रही है। उन्होंने यह भी कहा कि अभी तक जिले में एक भी कोरोना से संक्रमित व्यक्ति नहीं पाए गए हैं।

विदेश से आने वाले लोगों को रखा गया है होम आइसोलेशन में :
जिले में विदेश से आने वाले लोगों की विशेष रूप से जांच की जा रही है। इसके लिए हर प्रखंड में एक टीम बनाई गई है जो उनके स्वास्थ्य की जांच करती है।विदेश से आने वाले लोगों को 28 दिन तक सर्विलांस पर रखा जा रहा है। पहले 14 दिन में अगर उनमे कोरोना के लक्षण न दिखे तो उन्हें स्वस्थ्य माना जाता है। अगर इन 14 दिन में उनमें सर्दी-खांसी आदि दिखे तो उसे जांच के लिए भेजा जाता है और उन्हें अस्पताल में रखा जाता है।

सदर अस्पताल समेत दो अन्य प्रखंडों में भी बनाया गया है आइसोलेशन वार्ड :
कोरोना से निपटने के लिए स्वास्थ्य विभाग पूरी तरह कमर कस चुका है।इसके लिए सदर अस्पताल में आइसोलेशन वार्ड तैयार किया गया है।इसके अलावा बनबनखी व धमदाहा अस्पताल में भी आइसोलेशन वार्ड तैयार रखा गया है। आइसोलेशन वार्ड में सभी प्रकार के जरूरतें जैसे सेप्टरिजिन टेबलेट्स, पैरासिटामोल, क्लोरोक्वीन के अलावा हैंडवाश, मास्क, ग्लब्स, लिक्विडस आदि उपलब्ध है।

कोरोना से बचाव के लिए इन बातों का खासतौर से रखें ध्यान :

जब भी सर्दी जुकाम हो तो दूसरों के साथ नजदीकी संपर्क ना बनाएं।
खुले में ना थूकें।
यदि आपको बुखार, सर्दी या सांस लेने में समस्या हो तो तुरंत चिकित्सक को दिखाएँ एवं उन्हें बीते दिनों की यात्रा के बारे में बताएं।
यदि कोई व्यक्ति बीमार लग रहा हो और खांस या छींक रहा हो तो उससे कम से कम 2 मीटर की दूरी बनाएं रखें।
संक्रमित व्यक्ति के संपर्क में आने के बाद हाथों को अच्छी तरह 20 सेकंड तक साबुन एवं पानी से धोएं या सैनिटाइजर का उपयोग करें ।
ऐसे जानवरों के मांस सेवन करने से बचे जो बीमार थे या जिनकी मौत किसी बीमारी से हुई हो
हाथ धोये बिना अपनी आँखें, नाक और मुंह को न छुएं और किसी दूसरे व्यक्ति को भी न छुएं।