कृषि इनपुट अनुदान के लिए डीबीटी पोर्टल नहीं खुल रहा ,हो रहे किसान परेशान

0
674

बिहार संवाददाता सिकंदर राय की रिपोर्ट

कृषि इनपुट अनुदान के लिए डीबीटी पोर्टल नहीं खुल रहा ,हो रहे किसान परेशान
7 मई से 20 मई तक कृषि इनपुट सब्सिडी योजना के लिए तिथि है निर्धारित
बसुधा केंद्र के संचालक हरिवंश प्रसाद सिंह ने बताया नेट नहीं रहने के कारण किसानों को हो रही परेशानी

शिवहर— गेहूं फसल क्षति अनुदान योजना का लाभ लेने के लिए किसानों को लोहे के चने चबाने पड़ रहे हैं, सुबह से लेकर शाम तक नजदीकी बसुधा केंद्र पर जाकर बैठ कर बिहार राज्य के कृषि विभाग के डीबीटी पोर्टल पर आवेदन करने को लेकर बैठे रहते हैं पर नेट नहीं खुलने के कारण हुए बैरन लौट रहे हैं।

बिशनपुर किशुनदेव के किसान अजीत कुमार, मिर्जापुर धोवाही के किसान कृष्णदेव प्रसाद, सहित कई किसान जो शिवहर जिला मुख्यालय के पास राजलक्ष्मी कैंपस में अवस्थित वसुधा केंद्र पर किसानों ने बताया है कि सरकार द्वारा 7 मई से 20 मई तक कृषि इनपुट के लिए डीबीटी पोर्टल पर आवेदन करना है जिसके लिए सुबह के 9 बजे से शाम के 5 बजे तक ही समय निर्धारित की गई है, परंतु नेट नहीं रहने के कारण मजबूरन लौटना पड़ता है।

जबकि वसुधा केंद्र के संचालक हरिवंश प्रसाद सिंह ने बताया है कि कृषि इनपुट सब्सिडी योजना का लाभ लेने के लिए किसानों को सबसे पहले बिहार आज के कृषि विभाग के डीबीटी पोर्टल पर आवेदन करना है ,यह पंजीयन निशुल्क है तथा आधार नंबर से किया जा सकता है लेकिन नेट नहीं रहने के कारण पूरे दिन किसान आकर लौट रहे हैं।

गौरतलब हो कि बारिश और ओलावृष्टि से प्रभावित किसानों को मिलने वाले अनुदान इनपुट सब्सिडी योजना के लिए कुछ पात्रता निर्धारित की गई है जिला पदाधिकारी अवनीश कुमार सिंह के निर्देश पर समय भी निर्धारित किया गया लेकिन डीबीटी पोर्टल पर पंजीयन कराना नेट नहीं रहने के कारण मुश्किल हो रहा है।

बताते चलें कि इस अनुदान योजना के तहत असिंचित क्षेत्र के किसान को 6800 प्रति हैक्टेयर की दर से अनुदान दिया जाना है वही सिंचित क्षेत्र के किसानों को 13500 प्रति हैक्टेयर की दर से अनुदान दिया जाएगा,तथा इस योजना के अंतर्गत सरकार द्वारा प्रभावित किसानों को कम से कम 1000 का अनुदान दिया जाना है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here