केवाला से प्राप्त 16 कट्ठा 10 धुर की जमीन को लेकर हरिपुर गांव हुई दो पक्षों में जमीनी विवाद की झंझटावात में राम कुमार साह की चाकू मारकर हत्या कर दिये जाने से पंचायत के लोगों में फैला आक्रोश

0
1130

बिहार संवाददाता सिकंदर राय की रिपोर्ट

समस्तीपुर जिलान्तर्गत रोसड़ा अनुमंडल के रोसड़ा थाना क्षेत्र अंतर्गत हरिपुर गांव में दिनांक 22 फरवरी 20 को जीवछ साह से अशोक कुमार साह, रूबी देवी, नेहा कुमारी केवाला से प्राप्त जमीन खरीदा था। हत्यारोपी अभियुक्तों को इस खरीद की गई जमीन पर रास नहीं आया । ₹3 लाख 30 हजार रुपए में जमीन खरीदा गया था। दिनांक 30 मार्च 20 को सुबह 7:00 बजे रामबाबू साह, रामसागर साह, रघुनाथ साह, सुनील साह, अनर्इ देवी, पवन देवी, चिंटू देवी, सरपंच विजेंद्र कुमार दास ग्राम भिरहा थाना रोसड़ा के साथ ही चार पांच अन्य अज्ञात मिलकर मुखिया के समक्ष जमीन पर खड़ा था ।

घर से बुलाया तथा उसे झगड़ा झंझट करने लगा परिजन दौरे रामबाबू साह को मारपीट कर रहा है, राजू साह ने बताया की भाई पर हमला कर दिया चाकू से हमला किया गया जिससे वह बुरी तरह जख्मी हो गया । उसके पिता उसे बचाने आया तो उसे भी जख्मी कर दिया गया मारपीट कर। इस घटना में राम कुमार साह की मृत्यु घटनास्थल पर ही हो गई। वहीं आरोपी राजू साह पर भी हमला बोल दिया जिससे राजू कुमार साह भी जख्मी हो गया ।

इसके साथ ही बासु साह भी जख्मी हुऐ। जिन्हें बेहतर इलाज के लिए रोसड़ा से समस्तीपुर रेफर किया गया । जहां जीवन और मौत से बासु साह जूझ रहे हैं । वहीं जख्मी का इलाज अनुमंडल अस्पताल रोसड़ा में किया गया ।

उपरोक्त जानकारी राजू साह बताते हुऐ प्रेस प्रतिनिधि को कहां की पुलिस इस मामले में कोई कार्यवाही नहीं कर रही है । अभियुक्तों की गिरफ्तारी भी नहीं हो रही है । जिससे परिवार के लोगों के साथ ही स्थानीय ग्रामीणों में आक्रोश बढ़ता जा रहा है ।
समस्तीपुर जिलान्तर्गत रोसड़ा अनुमंडल के रोसड़ा थाना क्षेत्र अंतर्गत हरिपुर गांव में दिनांक 22 फरवरी 20 को जीवछ साह से अशोक कुमार साह, रूबी देवी, नेहा कुमारी केवाला से प्राप्त जमीन खरीद किया था। हत्यारोपी अभियुक्तों को इस खरीद की गई जमीन पर रास नहीं आया । ₹3 लाख 30 हजार रुपए में जमीन खरीदा गया था। दिनांक 30 मार्च 20 को सुबह 7:00 बजे रामबाबू साह, रामसागर साह, रघुनाथ साह, सुनील साह, अनर्इ देवी, पवन देवी, चिंटू देवी, सरपंच विजेंद्र कुमार दास ग्राम भिरहा थाना रोसड़ा के साथ ही चार पांच अन्य अज्ञात मिलकर मुखिया के समक्ष जमीन पर खड़ा था ।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here