कोरोना जैसी महामारी में केंद्र सरकार के विफलता पर दुनिया अचंभित है एजाज अहमद

0
1421

बिहार संवाददाता सिकंदर राय की रिपोर्ट

कोरोना जैसी महामारी में केंद्र सरकार के विफलता पर दुनिया अचंभित है -एजाज अहमद
पटना
जन अधिकार पार्टी लोकतांत्रिक के राष्ट्रीय प्रधान महासचिव एजाज अहमद ने नरेंद्र मोदी सरकार सरकार के दूसरे कार्यकाल को देश और दुनिया के लिए अचंभित करने वाला बताया और कहा कि दुनिया के लोग इस बात के लिए अचंभित हैं कि भारत में किस तरह से केंद्र सरकार कोरोना के समय आम गरीब जनता और मजदूरों को उनके हाल पर छोड़ दिया गया है जिस कारण गरीब मजदूर कभी सड़क के किनारे ,कभी रेलवे लाइन पर ,तो कभी रेल के अंदर काल के गाल में समा रहे हैं और सरकार गरीबों के प्रति उदासीन रवैया अपनाए हुए है । दुनियाभर के लोग अचंभित हैं कि जो ट्रेन दो या तीन दिनों में पटना पहुंचने चाहिए थी, उसे पहुंचने में 9-9 दिन लग रहा है, और बड़ी संख्या में लोग भूख और प्यास के कारण ट्रेन के अंदर ही दम तोड़ रहे हैं। हद तो यह है कि ट्रेनें जिन्हें उत्तर प्रदेश या बिहार आना था वह उड़ीसा और पश्चिम बंगाल की ओर चली गई, लेकिन रेल मंत्रालय को पता भी नहीं चला यह देख कर दुनिया अचंभित है कि भारत में रेल किस तरह से चल रहा है। लोग इस बात के लिए भी अचंभित हैं यहां एशिया में सबसे ज्यादा कोरोना के मरीज हो गए हैं लेकिन फिर भी केंद्र सरकार अपना बखान करने में ही समय व्यतीत कर रही है। और बड़े औद्योगिक घरानों को फायदा पहुंचाने तथा शराब के ठेके को खोलने के प्रति चिंतित दिखने वाली केंद्र सरकार आम गरीबों तथा छोटे दुकानदारों को लॉक डाउन का अनुपालन करने के पाठ पढ़ाए जा रहे हैं ,यह सबसे बड़ी अचंभित करने वाली बातें हैं। लोग यह समझ नहीं पा रहे हैं कि जहां गरीब परेशान हैं वहीं केंद्र सरकार देश में उन्माद और धार्मिक आधार पर राजनीति चलते रहे इसके लिए हर संभव प्रयास कर रही है और अपने एजेंडा को लागू कराने के लिए मीडिया का झूठ का सहारा ले रही है ,जबकि कोरोना जैसी महामारी में भी भाजपा के नेता पी पी ई किट और वेंटिलेटर में कमाई का रास्ता निकाल लिया और एक बड़ा घोटाला किया ।कोरोना काल में पी पी ई किट घोटाले में हिमाचल के भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष को पद छोड़ने को मजबूर होना पड़ा, वहीं दूसरी ओर गुजरात में फर्जी वेंटिलेटर होने के कारण बहुत सारे मरीजों ने समय से पहले दम तोड़ दिया हद तो यह है कि जिस कंपनी ने फर्जी वेंटीलेटर मुहैया कराई उसका प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से नजदीकी संबंध जगजाहिर है। और जब गुजरात हाईकोर्ट ने इस मामले में संज्ञान लिया तो केंद्र सरकार के इशारे पर हाई कोर्ट के दो जजों की बेंच को ही बदल दिया गया लोग इस बात पर अचंभित है कि देश में यह कैसी सरकार चल रही है जो अपने पार्टी के लोगों और नजदीकी लोगों को बचाने के लिए हाईकोर्ट और सुप्रीम कोर्ट के जजों को बदलने में एक मिनट का भी देर नहीं करती है ,वहां पर न्याय कैसे होता होगा इस बात पर दुनिया के लोग अचंभित हैं ।
एजाज ने आगे कहा की अफसोस होता है कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी अपने छ वर्षों के कार्यकाल में सिर्फ उन्माद और धार्मिक आधार पर राजनीति को ही बढ़ावा देकर देश को कमजोर करने का काम किया है। आज स्थिति यह है कि भारत की आर्थिक स्थिति डांवाडोल है और जीडीपी शून्य की ओर अग्रसर है, जहां पूरी दुनिया में डीजल और पेट्रोल की कीमतों में भारी कमी देखी जा रही है ,वहीं भारत में डीजल और पेट्रोल की कीमतें लगातार आसमान छू रही है। साथ ही साथ नरेंद्र मोदी के छ वर्षों के कार्यकाल ने सभी पड़ोसियों को अपना दुश्मन बना लिया है और जो पड़ोसी हमारे अच्छे दोस्त और सहयोगी थे उन्हें भी नरेंद्र मोदी सरकार की नीतियों ने कहीं ना कहीं दुश्मन बनने पर मजबूर किया है । जिस नेपाल से हमारा रोटी और बेटी का रिश्ता था उसे भी अब दुश्मन बना लिया है।
इन्होंने ने कहा कि आश्चर्य की बात है की देश में काम करने वाले मजदूर मर रहे हो और आराम करने वाले अमीर तेजी से आगे बढ़ रहे हैं, ऐसा लग रहा है कि देश में अमीरों के इशारे पर ही नरेंद्र मोदी की सरकार काम कर रही है और उनके संरक्षण के लिए हर स्तर पर बांछे बिछाए खड़ी है,
इन्होंने आगे कहा कि देश की तरक्की के लिए सिर्फ नारा नही बल्कि अमल भी काम होना चाहिए ,जो नरेंद्र मोदी के सरकार में कहीं देखने को नहीं मिलता है। सिर्फ अच्छे दिन की बातें की जाती है लेकिन गरीबों को सड़कों पर मरने के लिए छोड़ दिया गया है और इनके प्रति ऐसा व्यवहार किया जा रहा है जिससे मानवता शर्मसार हो गया है क्या देश के लोगों ने छ वर्ष पहले इन्हीं बातों के लिए बदलाव किया था कि संकट के समय में सरकार उन्हें आजादी के समय की तरह पलायन करने पर मजबूर कर देगी और उनके साथ हो रहे अन्याय तथा अत्याचार पर खामोश तमाशाई बनी रहेगी, इस बात को देखकर पूरी दुनिया नरेंद्र मोदी सरकार पर अचंभित है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here