कौशांबी में पत्रकारों का आंदोलन चौथे दिन भी रहा जारी, ज्ञापन न लेने पर डीएम दफ्तर के बाहर किया चस्पा

0
508

उत्तर प्रदेश के कौशाम्बी जनपद में पत्रकारों के आंदोलन के चौथे दिन प्रेस क्लब के सदस्य सुशील गुप्ता ने अपना मुंडन करा कर विरोध दर्ज कराया। पत्रकारों का ज्ञापन एक साजिस के तहत मुख्यमंत्री तक न पहुंच सके, इसके लिए आज कोई भी अधिकारी ज्ञापन लेने नहीं पंहुचा। जिसके क्रम में पत्रकारों ने ज्ञापन जिला अधिकारी दफ्तर में चस्पा कर अपना विरोध दर्ज कराया। साफ़ चेतावनी दी कि पत्रकार हितो पर कोई भी समझौता नहीं किया जायेगा।

गौरतलब है कि जिले में पिछले 2 वर्षो के बीच आधा दर्जन से अधिक पत्रकारों पर प्रशासन व पुलिस कर्मियों ने द्वेष पूर्ण ढंग के कार्यवाही की परंपरा शुरू की है। पत्रकार समाज इन कार्यवाहियों का पुरजोर विरोध करता आ रहा है, लेकिन अफसरों और शासन सत्ता में बैठे लोगो ने पत्रकार हितो पर कोई ठोस कदम नहीं उठाया। जिससे नाराज़ कौशाम्बी के पत्रकार समाज ने 05 फरवरी से क्रमिक आंदोलन व मुंडन संस्कार करा कर अपना विरोध दर्ज कराना शुरू कर दिया है। पत्रकार अपनी मांगो का एक ज्ञापन प्रदेश मुखिया मुख्यमंत्री आदित्यनाथ योगी को जिला अधिकारी कार्यालय के जरिये भेजने का क्रम जारी रखा है। आंदोलन के चौथे दिन प्रेस क्लब के वरिष्ठ उपाध्यक्ष प्रेस राकेश सोनकर, कोषाध्यक्ष नीरज सिंह, डीएस यादव, अनिरुद्ध पांडेय (सिराथू प्रेस अध्यक्ष) चायल प्रेस क्लब के महामंत्री शब्बर अली, वरिष्ठ पत्रकार सुशील केसरवानी, ओमनीष तिवारी, अजय कुमार, जरीना सिद्दीकी, अभिसार भारतीय, शादाब रिजवी, इन्तजार रिजवी, डॉ. अरविंद कुमार पाल, मान सिंह यादव, सुनील राठौर, सुधीर कुमार, पवन दुबे, नसीम अहमद, विशाल साहू, धर्मेंद्र सिंह, सुशील गुप्ता, मोनू कुशवाहा, इस्तेयाक अहमद, शारुख एवं अन्य पत्रकार साथी मौजूद रहे। पत्रकारों के इस आंदोलन में अन्य पडोसी जिले के पत्रकार संगठनो ने भी अपने समर्थन में ज्ञापन और विरोध दर्ज कराने की पेशकश की है।