गया: अभिभावकों पर फीस जमा कराने के लिए न बनाया जाए दबाव।

0
211

गया: जिलाधिकारी श्री अभिषेक सिंह द्वारा निजी विद्यालय के प्रबंधकों के लिए आदेश जारी करते हुए पत्र जारी कर कहा गया है कि नोवल कोरोना वायरस (कोविड-19) के संक्रमण एवं फैलाव को देखते हुए राज्य सरकार द्वारा The Epidemic Disease Act,1897 की धारा-2 के तहत प्रदत्त शक्तियों का प्रयोग करते हुए Lockdown करने का आदेश दिया गया है। प्रधान सचिव, आपदा प्रबंधन विभाग, बिहार, पटना के पत्रांक-1173/आ.प्र. दिनांक 25.03.2020 द्वारा प्रतिवेदित किया गया है कि गृह मंत्रालय, भारत सरकार के पत्र संख्या-33-4/2020-NDM-01 दिनांक 14.03.2020 द्वारा कोविड-19 Epidimic के फैलाव को ” अधिसूचित आपदा” माना गया है एवं इस पर प्रभावी नियंत्रण एवं रोकथाम हेतु आवश्यकतानुसार आपदा प्रबंधन अधिनियम, 2005 के सुसंगत धाराओं के तहत कार्रवाई करने हेतु निर्देशित है।

विभिन्न माध्यमों से ऐसी सूचना प्राप्त हो रही है कि इस आपदा के दौरान निजी विद्यालय प्रबंधन द्वारा अभिभावकों को SMS या अन्य माध्यमों से संसूचित कर तीन माह का फीस एक साथ जमा करने का दबाव दिया जा रहा है। इसके अतिरिक्त विद्यालय में आकर किताब एवं कॉपी खरीदने हेतु संसूचित किए जाने की सूचना मिल रही है तथा परिवहन मद में भी राशि जमा करने का निर्देश दिया जा रहा है। अभिभावकों के द्वारा लॉकडाउन की स्थिति में फीस आदि जमा करने में असमर्थता व्यक्त की जा रही है तथा लॉकडाउन के दौरान अभिभावकों/बच्चों के समक्ष ससमय फीस जमा करने की वास्तविक कठिनाई होने की सूचना दी जा रही है।

उक्त परिप्रेक्ष्य में नोवल कोरोना वायरस (कोविड-19) के संक्रमण एवं फैलाव को देखते हुए वर्तमान में में लॉकडाउन के आलोक में निजी विद्यालय प्रबंधनों को निम्नांकित को निर्देश दिए जाते हैं।

1. किसी भी परिस्थिति में तीन माह की फीस जमा करने हेतु किसी भी अभिभावक को बाध्य नहीं किया जाए।

2.अभी मात्र एक माह का Tution Fee जमा करने हेतु अभिभावकों से अनुरोध किया जाए।

3.Tution Fee के अलावे अन्य प्रकार के चार्ज बाद में क़िस्त के रूप में वसूल किए जाने की व्यवस्था सुनिश्चित किया जाए।

4.छात्रों के हित में Study Material Video/ppt के रूप में अभिभावकों और छात्रों को Whatsapp/E-mail/School Website के माध्यम से उपलब्ध कराया जाए।

5. पाठ्य-पुस्तकों तथा अन्य आवश्यक पठन-सामग्री का home to delivery कराने की व्यवस्था की जाए। इस हेतु आवश्यक वाहन पास हेतु संबंधित अनुमंडल पदाधिकारी से सम्पर्क स्थापित किया जाए।

6.वर्तमान स्थिति में से यदि कोई अभिभावक एक माह का का Tution Fee जमा करने में असमर्थ है तो उनपर किसी प्रकार का दबाव नहीं बनाया जाए तथा छात्र का नामांकन रद्द नहीं किया जाए। साथ ही ऐसे छात्रों को भी Study Material एवं अन्य छात्रों की भांति उपलब्ध कराया जाए।

7. विद्यालय प्रबंधन द्वारा इस अवधि में कार्यरत कर्मियों का भुगतान नियमित रूप से ऑनलाइन करने की व्यवस्था सुनिश्चित की जाए।
उपरोक्त के आलोक में गया जिला में अवस्थित सभी निजी विद्यालय प्रबंधन को निर्देश दिया जाता कि उक्त आदेश का अनुपालन सुनिश्चित

अभिजीत कुमार
डिविजनल ब्यूरो चीफ
मगध प्रमंडल-गया,बिहार