चंद्रवंशी समाज ने सरकार की नीतियों और अपराधिक घटनाओं का विरोध नायाब तरीके से किया

0
371

बिहार संवाददाता सिकंदर राय की रिपोर्ट

चंद्रवंशी समाज ने सरकार की नीतियों और अपराधिक घटनाओं का विरोध नायाब तरीके से किया

चंद्रवंशी समाज के सैंकड़ों लोगों ने लाॅकडाउन की अवधि में नयाब तरीके से विरोधाभास प्रकट किया । सरकार की नीतियों और अपराधिक घटनाओं का पुरजोर विरोध करते हुए, चंद्रवंशी समाज के लोगों ने सोशल मीडिया को सहारा बनाकर अपनी मांगों को सरकार तक पहुंचाने का प्रयास किया है ।
बता दें कि विगत सप्ताहों के दर्मियान अतिपिछड़ो के साथ हुई अपराधिक घटनाओं से विचलित हो कर तथा अपराधकर्ताओं के गिरफ्तारी की मांग को लेकर कई अतिपिछड़ो का संगठन और चंद्रवंशियों का संगठन एक मंच पर हो कर अपनी मांगों में अपराधियों की गिरफ्तारी और फांसी की सजा की मांग की है ॥
जिसमें जमुई जिले में 10 वर्ष की बच्ची के साथ बलात्कार, नवादा जिले में नाबालिग बच्ची के साथ सामूहिक दुष्कर्म अलावे नालंदा में दबंगई मे महिला के साथ मारपीट और अतिपिछड़ा भाजपा नेता के साथ अभद्र व्यवहार , औरंगाबाद जिले में समाजसेवी की हत्या की घटनाएँ शामिल है ।
अतिपिछड़ो के वरीय नेताओ के अलावे चंद्रवंशी समाज के लोगो ने फेसबुक पेज, ट्वीटर और वाट्सएप जैसे सोशल मीडिया के माध्यम से बलात्कारियों को फांसी दो, हत्यारों को फांसी दो की मांग कर रहे थे ।
जिसमें अखिल भारतीय जरासंध अखाड़ा परिषद के राष्ट्रीय अध्यक्ष भाई मिलन सिंह चंद्रवंशी , राष्ट्रीय महासचिव श्याम किशोर भारती , धर्मेन्द्र वर्मा , जरासंध पंचायत ट्रस्ट बोर्ड के अध्यक्ष सूरज चंद्रवंशी, अखाड़ा परिषद के नालंदा जिलाध्यक्ष वीरू भाई चंद्रवंशी, महासभा के अध्यक्ष भागवत चंद्रवंशी, नगेन्द्र सिन्हा, महासभा व भाजपा वरीय नेता जेपी चंद्रवंशी, संतोष भारती , मुखिया रवि राम, राजहंस आदि लोगो के अलावे सैंकड़ों समाजसेवी शामिल थे ॥

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here