छपरा:-क्षेत्रीय अपर स्वास्थ्य निदेशक ने डोर टू डोर सर्वे अभियान का लिया जायजा, दिए निर्देश

0
359

बिहार संवाददाता सिकंदर राय की रिपोर्ट

क्षेत्रीय अपर स्वास्थ्य निदेशक ने डोर टू डोर सर्वे अभियान का लिया जायजा, दिए निर्देश
• प्रत्येक घरों के सर्वे करने के दिए निर्देश
• प्रत्येक घरों के सदस्यों से गहनता पूर्वक पूछ-ताछ की जरूरत
• सर्वे अभियान में लापरवाही कोरोना संक्रमण की रोकथाम में हो सकती है बाधक

छपरा:- कोरोना वायरस के संक्रमण के प्रसार को रोकने के लिए स्वास्थ्य विभाग व जिला प्रशासन की ओर से घर-घर सर्वे अभियान की शुरुआत की गई है। जिसके तहत आंगनबाड़ी सेविका व आशा कार्यकर्ताओं के द्वारा घर-घर जाकर सर्वे की जा रही है. सोमवार को सारण के क्षेत्रीय अपर स्वास्थ्य निदेशक डॉ अरविंद कुमार गुप्ता ने शहर में चल रहे डोर टू डोर सर्वे अभियान का जायजा लिया। उन्होंने शहर के काशी बाजार के कई मुहल्लों में डोर टू डोर सर्वे अभियान का जायजा लिया. साथ ही आम जनता से भी कार्यों के बारे में फीडबैक भी लिया लिया।
क्षेत्रीय अपर स्वास्थ्य निदेशक डॉ गुप्ता ने निर्देश दिया है कि सर्वे अभियान में किसी तरह की लापरवाही नहीं होनी चाहिए। प्रत्येक घरों की पूर्ण सर्वे किया जाए। किसी भी तरह की लापरवाही होने से कोरोना संक्रमण के प्रसार को रोकने में चुनौती बढ़ सकती है. उन्होंने बताया इस अभियान में एक भी घर छूटना नहीं चाहिए। उन्होंने कहा आम जनता से शिकायत मिली थी कि काशी बाजार मोहल्ले के कई घरों में सर्वे नहीं किया गया है, जिसके बाद उन्होंने जायजा लेने पहुंचे और सर्वे दलों के सदस्यों को आवश्यक दिशा निर्देश दिया है। उन्होंने बताया इस क्षेत्र में करीब 150 घरों का सर्वे किया जाना है. आशा कार्यकर्ता को आंगनबाड़ी सेविकाओं के द्वारा सर्वे का कार्य किया जा रहा है। आवश्यकतानुसार कोरोना वायरस के लक्षण वाले संदिग्ध व्यक्तियों का सैंपल कलेक्शन किया जा रहा है । साथ हीं उन्हें होम क्वॉरेंटाइन में रहने की सलाह दी जा रही है।

आम जनता से लिया फीडबैक:

क्षेत्रीय अपर स्वास्थ्य निदेशक डॉ अरविंद कुमार गुप्ता ने निरीक्षण के दौरान आम जनता से भी सर्वे कार्यों के बारे में फीडबैक लिया तथा फीडबैक के आधार पर सर्वे कार्य में लगे टीमों को आवश्यक दिशा निर्देश दिया । उन्होंने आम जनता से भी सर्वे कार्य में पूर्ण सहयोग करने की अपील की और कहा सर्वे दलों को सही सही जानकारी उपलब्ध कराएं। ताकि करुणा संक्रमण के प्रसार को रोकने में महत्वपूर्ण सहयोग मिल सके।

पोलियो अभियान की तर्ज पर घरों की हो रही मार्किंग:

पल्स पोलियो अभियान की तरह इस अभियान में भी कोरोना संक्रमण व्यक्तियों के घरों की मार्किंग की जा रही है. कार्य के लिए राज्य स्वास्थ्य समिति द्वारा कोविड 19 फॉर्म उपलब्ध कराये गये हैं। इसमें तीन स्तरों पर सूचना लिया जा रहा है। कोविड-19 फॉर्म के तहत पहला प्रपत्र स्थानीय स्तर पर नियुक्त किये गये दलकर्मी भर रहे है। कोविड 19 फॉर्म के तहत 2, 3 व 3 ए व 4 प्रपत्र को पर्यवेक्षक व फॉर्म 5 जिला स्तर पर भरने का काम किया जा रहा है। सर्वे के दौरान प्रत्येक घर में हाउस मार्किंग की जा रही है। संदिग्ध पाये गये व्यक्तियों के घरों पर मार्किंग की जा रही है।

इन बातों का रखें ख्याल:

• यदि घर से बाहर निकलना पड़े तब लोगों से 1 मीटर की दूरी जरुर बनायें
• घर आने के बाद हाथों को 20 सेकंड तक पानी एवं साबुन से धोएं
• बाहर में किसी भी चीज को छूने से परहेज करें
• लॉकडाउन के नियमों के सख्ती से पालन करें