जनपद के पशु चिकित्सालय पश्चिम सरीरा का औचक निरीक्षण किया

0
195

मुख्य पशुचिकित्सा अधिकारी कौशाम्बी ने जनपद के पशुचिकत्सालय पश्चिम सरीरा का औचक निरीक्षण किया जहां वेटेरिनरी फार्मासिस्ट अनुपस्थित मिलने पर उनका एक दिन का वेतन रोकने का आदेश जारी किया और स्पष्टीकरण मांगा तथा अस्थायी आश्रय स्थल नगर पंचायत पूरब सरीरा का निरीक्षण किया जहां 205 गोवंश संरक्षित मिले जिसमे 04 गोवंश के स्वास्थ्य सही न होने पर तत्काल प्रभाव से उनका चिकित्सा मौके पर करा कर गोवंशो को पीडा से राहत मिली । उत्तर प्रदेश कौशाम्बी जनपद में उठ रहे गो संरक्षण केन्द्रों मे गोवंशो के साथ लापरवाही बरतने का मामला प्रकाश में आने से विभागीय अधिकारी सतर्कता के साथ निरीक्षण करने लगे जिसमे मुख्य चिकित्सा अधिकारी वीपी पाठक जो अपने जिम्मेदारी को लेकर वह पूरी तरह सतर्क दिखाई दे रहे है वह अपने उम्र को पीछे छोडकर वह जनपद में बने तीनों तहसीलों मे बने आश्रय स्थल का औचक निरीक्षण कर वह अपने शारिरिक फिटनेस का अनुभव कराया । जिसमे आज दिनांक 01/06/2021की सुबह 08 बजे ही निरीक्षण रिमझिम बारिश के बीच निकले जहां उनका टारगेट तय रहा पशुचिकत्सालय पश्चिम सरीरा और वह सुबह लगभग 08 बजे पहुंचे जहां मौके पर एक वेटेनरी फार्मासिस्ट प्रभाकर सिंह अनुपस्थित मिले एवं अन्य स्टाफ में महिला पशुधन प्रसार अधिकारी श्रीमती अकांक्षा व चतुर्थ श्रेणी के कर्मचारी शारदा चिकित्सालय में उपस्थित रहे ।जिनसे वेटेनरी फार्मासिस्ट प्रभाकर सिंह के अनुपस्थित रहने के बारे मे पूछताछ किया स्पष्ट जवाब न मिलने पर उन्होंने उनके एक दिन का वेतन रोकने का आदेश पारित कर लापरवाही बरतने वाले विभागीय अधिकारी एवं कर्मचारियों मे डर पैदा किया उन्होंने चिकित्सालय का रजिस्टर चेक किया तथा पशुधन प्रसार अधिकारी से विभागीय गोवंशो के प्रति वार्ता की । तत्पशचात वह अस्थायी आश्रय स्थल नगर पंचायत पूरब सरीरा का निरीक्षण किया निरीक्षण के वक्त बारिश हो रही थी पर जिम्मेदारी जिम्मेदारी होती है वह छाता लेकर आश्रय स्थल का निरीक्षण किया जहां मौके पर 205 गोवंश संरक्षित रहे जिनमे 04 गोवंश का स्वास्थ्य सही न होने पर तत्काल प्रभाव से उनका चिकित्सा मौके पर कराया और स्थल में बारिश का पानी से होने वाले दलदल पर भी मुख्य पशुचिकित्सा अधिकारी की नजर रही वहीं दूसरी ओर वह भूसा का स्टाक चेक किया जहां मौके पर 50 कुंतल भूसा का स्टाक पाया गया स्थान और बने शेड को देखते हुए उन्होंने और गोवंश को संरक्षित करने हेतु अधिशासी अधिकारी एवं पशुचिकित्सा अधिकारी को निर्देशित किया । वहीं उन्होंने कहा कि पशु चिकित्सा अधिकारी सरसवां डा० अजीत सिंह के पास पशुचिकत्सालय पश्चिम सरीरा का भी चार्ज है । आश्रय स्थल में कार्यरत कर्मचारियों का हौसला बढ़ाया कि किसी भी प्रकार की समस्या गोवंशो के प्रति हो वह तत्काल सूचना सम्बंधित विभागीय डाक्टर को दे और उन्होंने कहा कि कोविड 19 गाइडलाइन के अनुपालन के साथ कार्य किया जाय ।मुख्य पशुचिकित्सा अधिकारी के औचक निरीक्षण से लापरवाह विभागीय अधिकारी व कर्मचारी मे अचानक चेकिंग का भय उत्पन्न हो रहा है । नेशनल एन्टी करप्शन न्यूज चैनल ब्यूरो चीफ कौशाम्बी राजेश कुमार श्रीवास्तव की रिपोर्ट 01/06/2021

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here