जर्जर सड़क को ले फूटा ग्रामीणों का आक्रोश, धान रोपकर जताया विरोध।

0
240

बिहार संवाददाता सिकंदर राय की रिपोर्ट:-

सहरसा – सोनबरसा प्रखंड के मंगवार पंचायत में टूटी सड़क को लेकर आम युवाओं एवं नागरिकों का गुस्सा फूट पड़ा। युवाओं ने जिला प्रशासन का विरोध प्रदर्शन करने के लिए प्रिंस सिंह के नेतृत्व में सड़कों पर धान रोपाई का काम किया। विरोध प्रदर्शन में आम नागरिकों ने टूटी हुई सड़क पर जलजमाव को लेकर काफी देर तक रोड जामकर हंगामा किया। विरोध प्रदर्शन का नेतृत्व कर रहे बजरंग दल के प्रिंस सिंह ने आक्रोश भरे लहजे में कहा कि काफी लंबे समय से आरसीडी के मनमानी एवं लापरवाही के वजह से यह काम जस का तस अभी तक पड़ा हुआ है। यह सड़क निर्माण का कार्य अब तक पूर्ण रूप से खत्म हो जाना चाहिए। लेकिन जिला प्रशासन तथा आरसीडी के अधिकारियों की लापरवाही के वजह से आज तक पूरा नहीं हो पाया। रोज कोई न कोई घटना यहां होते रहती है। कभी किसी टैंपो पलटने की घटना तो कभी किसी रिक्शा पलटने की घटना से आम नागरिक एवं आम ग्रामीण परेशान हो चुके हैं। स्थानीय विधायक ने भी इस समस्या की गंभीरता को देखते हुए कई बार जिला प्रशासन एवं पथ निर्माण विभाग को पत्र के माध्यम से और फोन के माध्यम से संपर्क कर चुके हैं बावजूद इसके जिला प्रशासन पूरी तरह चिर निंद्रा में सोई हुई है एवं किसी की मौत का इंतजार कर रही है। जिला प्रशासन एवं पथ निर्माण विभाग के लापरवाही का यह आलम है कि आने वाले समय में विगत दिनों से घटित घटनाओं को देखते हुए ऐसा लग रहा है कि जब तक किसी व्यक्ति की जान यहां दुर्घटना से नहीं होगी तब तक जिला प्रशासन चिर निंद्रा टूटने वाली नहीं है। वही मंगवार के पंचायत समिति श्री चंदन कुमार सिंह ने भी कहा है कि आम युवा एवं ग्रामीण नागरिकों में मंगवार बाजार में टूटी हुई सड़क के वजह से जिला प्रशासन तथा पथ निर्माण विभाग प्रशासन के खिलाफ काफी गुस्सा तथा आक्रोश है। अगर प्रशासन इस पर जल्द से जल्द पहल नहीं करती है तो मंगवार के सैकड़ों युवाओं के साथ साथ सैकड़ों ग्रामीण आमरण अनशन करने को बाध्य होंगें। जिला प्रशासन से उक्त समस्या को देखते हुए अविलंब ठोस कदम उठाने की आवश्यकता है। उन्होंने आगे कहा कि माननीय सांसद दिनेश चंद्र यादव एवं माननीय विधायक रत्नेश सादा भी कई बार संबंधित विभाग से संपर्क साध कर उनसे आग्रह कर चुके हैं। बावजूद इसके अब तक जिला प्रशासन इस विषय की गंभीरता को नहीं देख रहे हैं। जिसके वजह से आम ग्रामीण नागरिकों में आक्रोश है। मौके पर विकाश सिंह ( मखिया), चंदन कुमार सिंह ( पंचायत समिति ), आभाष कुमार सिंह ( वार्ड सचिव), प्रिंस सिंह, राजा सिंह, सुभम, सोनू, सुशांत, हर्षित, आयुष, नितिन सिंह, निशांत, गोलु, प्रशांत, सौरभ, सत्यम, आदित्य, शिवम, किशन, सिंटू, आयुष, प्रणव, दीपक, सुभंकर, अभिषेक , उदित, बिपुल, मंगल, किट्टू, आदित्य सहित अन्य मौजूद रहे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here