जिला अधिकारी गया एवं वरीय पुलिस अधीक्षक गया के संयुक्त अध्यक्षता में समाहरणालय सभागार में जिला शांति समिति की बैठक

0
212


जिला अधिकारी गया एवं वरीय पुलिस अधीक्षक गया के संयुक्त अध्यक्षता में समाहरणालय सभागार में जिला शांति समिति की बैठक की गई है। बैठक को संबोधित करते हुए जिलाधिकारी श्री अभिषेक सिंह ने सभी को होली की अग्रिम शुभकामनाएं दी तथा कहा कि गया में 3 दिनों तक होली का पर्व का मनाया जाता है। 9 तारीख को अगजा होगा, 10 और 11 को होली मनायी जाएगी। उन्होंने कहा कि गृह विभाग के निर्देश के अनुसार नई शांति समिति का गठन किया गया है। इसमें आपको बहुत ही महत्वपूर्ण जिम्मेवारी प्रदान की गई है। इन 3 दिनों में आप सक्रिय रहेंगे और किसी भी तरह की घटना की त्वरित सूचना उपलब्ध कराएंगे। साथ ही स्थानीय स्तर पर यदि कोई छोटी घटना होती है तो उसे समझा कर दबाने का प्रयास करेंगे।
उन्होंने कहा कि संवेदनशील जगहों को चिन्हित किया गया है और वहां पुलिस बल लगाया जा रहा है। सामाजिक सौहार्द बिगाड़ने के लिए किसी भी प्रकार के अफवाह फैलाने वालों के विरुद्ध सख्त कार्रवाई की जाएगी। सोशल मीडिया पर भी नजर रखी जाएगी। उन्होंने कहा कि यदि कहीं भी कोई घटना घट जाती है तो उसका निस्तारण त्वरित गति से उसी स्तर पर कर देने पर बात आगे नहीं बढ़ती है। प्रायः ऐसा देखा गया है कि कई बार लोग अति उत्साह में दूसरे का सामान अगजा में जला देते हैं जिससे बात बढ़ जाती है। ऐसे लोगों के विरुद्ध सख्त कार्रवाई की जाएगी। अगजा के ऊपर से विद्युत का तार भी जाता है उसमें सावधानी बरतने की जरूरत है। इसके साथ ही गया में लुकवारी का प्रचलन है। इस प्रचलन को धीरे-धीरे हतोत्साहित करने की जरूरत है। इससे किसी के घर में या किसी के खेत में ना फेंका जाए इससे काफी नुकसान होने की संभावना रहती है। इस अवसर पर कई लोग अपने को सुरक्षित रखना चाहते हैं और वे रंग गुलाल से दूर रहना चाहते हैं। होली हंसी -मजाक और उत्साह का त्यौहार है इसलिए कहीं कोई घटना होती है तो उसे जातीय, सामाजिक या धार्मिक रूप देने का प्रयास न किया जाए। गया में होली के कल मटका फोड़ा जाता है और इसमें यह ध्यान रखने की जरूरत है कि इस दौरान किसी को कोई चोट न लगे। साथ ही शराबबंदी के मद्देनजर भी सड़कों पर वाहनों पर नजर रखी जाएगी। खासकर ग्रामीण क्षेत्र के सड़कों पर विशेष निगरानी रखने के निर्देश दिए गए। उन्होंने कहा कि प्रायः देखा जाता है कि असामाजिक तत्व पहले के किसी मुद्दे को लेकर बदले की भावना से इस अवसर पर का प्रयोग करते हैं और धार्मिक उन्माद का रूप देकर बदला लेना चाहते हैं। यदि ऐसा कहीं भी पाया गया तो संबंधित के विरूद्ध सख्त से सख्त कार्रवाई की जाएगी। उन्होंने कहा कि कहीं भी कोई घटना होती है और पाया जाता है कि जानबूझकर घटना को अंजाम दिया गया है तो जिला प्रशासन सख्त से सख्त कार्रवाई करेगी।
वरीय पुलिस अधीक्षक श्री राजीव मिश्रा ने शांति समिति को संबोधित करते हुए कहा कि वर्ष 2015 के बाद अबतक जिन स्थलों पर कोई भी घटना घटित हुई है उन संवेदनशील क्षेत्र को पूर्व से चिन्हित कर लिया गया है, जहां प्रशासन की विशेष नजर रहेगी। उन्होंने थाना प्रभारियों को मटका फोड़ने के स्थल पर विशेष एहतियात बरतने के निर्देश दिए। खासकर मुन्नी मस्जिद के पास। उन्होंने कहा कि प्रायः देखा जाता है कि हिंदुओं में भी बहुत से लोग होली नहीं खेलना चाहते हैं और अगर उन्हें रंग लगा दिया जाता है तो इसे जातीय व धार्मिक रंग देने के प्रयास किया जाता है, जिससे तनाव उत्पन्न हो सकता है। उन्होंने शांति समिति के सदस्यों को कहा कि वैसे लोगों को समझाएं कि होली के दिन 4- 6 घंटे के बाद ही बाहर निकलें।

उन्होंने कहा कि प्रशासन अपराधिक एवं असामाजिक तत्वों पर पूरी तरह से नजर रखे हुए है और जिनका पूर्व का इतिहास अच्छा नहीं रहा है वैसे 4000 लोगों के विरुद्ध निरोधात्मक कार्रवाई की गई है। उन्होंने संबंधित अनुमंडल पदाधिकारी एवं अनुमंडल पुलिस पदाधिकारी से उन सभी से बॉन्ड डाउन करवाने के निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि इस बात पर ध्यान दिया जाना चाहिए कि कहीं भी कोई छोटी सी घटना भी घट जाती है तो उस घटना से उबरने में उस जगह को कम से कम 3 से 4 साल लग जाते हैं। उन्होंने पुलिस पदाधिकारियों को कहा कि ऐसे मामलों में त्वरित कार्रवाई करने की आवश्यकता होती है। सही समय पर कार्रवाई करने पर कम से कम बल का प्रयोग करना पड़ता है।
इस अवसर पर शांति समिति के सदस्यों ने अपने अपने विचार रखे। अश्लील गानों पर रोक, मिश्रित जनसंख्या वाले मोहल्ले में गश्ती, संवेदनशील स्थलों पर पुलिस बल की प्रतिनियुक्ति तथा मटका फोड़ स्थलों पर एहतियात बरतने के सुझाव दिए।

बैठक में नगर आयुक्त, गया नगर निगम श्री सावन कुमार, सिटी एसपी श्री राकेश कुमार, अपर पुलिस अधीक्षक श्री राजेश भारती, नगर पुलिस उपाधीक्षक श्री राजकुमार साह, प्रभारी जिला गोपनीय शाखा, पुलिस उपाधीक्षक विधि व्यवस्था, संबंधित थानों के थाना प्रभारी एवं शांति समिति के सदस्य श्री शिव बचन, सिंह मोती करीमी, मोहम्मद निजाम, श्री विनोद कुमार, मो0 टूटू खान तथा गया के सभी माननीय सांसद व माननीय विधायक के प्रतिनिधिगण उपस्थित थे।

अभिजीत कुमार
गया जिला संवाददाता