परिवार के चार अंधे सदस्यो को देखकर सरकार भी अंधी हो गए

0
390

बिहार संवाददाता सिकंदर राय की रिपोर्ट
परिवार के चार अंधे सदस्यो को देखकर सरकार भी अंधी हो गए?
समस्तीपुर जिला रोसड़ा अनुमंडल रोसड़ा प्रखंड के अंतर्गत मो नगर पुरब पंचायत महुली ग्राम में एक ही परिवार के कई सदस्य प्राकृतिक कारणों से अंधे हो गए। इनके लिए कोई पहल आज तक नहीं किए लाके सुरेंद्र राम पिता स्वर्गीय फेकन राम उसके पुत्र मुकेश राम पुत्र वधू रूबी देवी पुत्री पूजा कुमारी पिता सुरेंद्र राम इस परिवार में दो परिवार को छोड़कर चार हो गए हैं अंधे। चारों परिवार को सरकार विकलांग पेंशन दे रही है ।अंधे सुरेंद्र राम ने बताया कि बच्चे जन्म लेते हैं 10 वर्षों के बाद  स्वयं को अंधे हो जाते हैं। उस घर में उसकी पत्नी सीता देवी पुत्र वधू रूबी देवी तथा एक पुत्र सुनील राम प्राकृतिक चपेट में नहीं आ सका। स्थानीय लोगों ने बताया की सीता देवी जब इस घर में आई तो वह 18 वर्ष से अधिक उम्र की थी उसी तरह से उसकी पुत्रवधू रूबी देवी भी 18 वर्षों के बाद इस घर में प्रवेश की इस कारण से वे ठीक है ।एक पुत्र सुनील राम जो 10 वर्ष पार कर गए हैं इस पर भी प्रकृति का मार पर सकता है। सरकार इस परिवार के संबंध में किसी प्रकार का रिसर्च नहीं किया जिस कारण इस परिवार के लोग हो रहे अंधे। सुरेंद्र राम ने बताया इस अंधे रिसर्च कर देखने वाला सरकार अंधा है। कानून अंधा है जिस कारण आज तक अंधे परिवार के लोगों को रहने के लिए आवास तक भी नहीं दिया। विभिन्न तरह के संरक्षण आगनबाडी सेविका सहायिका विकास मित्र पंचायत सचिव मुखिया सर्वेक्षण करते रहे लेकिन इस ओर किसी को इस अंधे के प्रति ध्यान नहीं रहा। सुरेंद्र राम ने बताया इस परिवार को देख कर जांच करने वाले भी अंधे हो जाते हो ।सुरेंद्र राम ने सरकार से अपनी मांग रखते हुए कहा है कि 4 अंधे परिवार को मिलने वाली विकलांग पेंशन की राशि से गुजारा करना संभव  नहीं हो पाता है सरकार इस अंधे परिवार पर रिसर्च कर सुविधा दिलाने की व्यवस्था करें जिससे अंधे परिवार की जीविका चल सके।