फिटकिरी नहीं करेगी कोरोना के संक्रमण से बचाव-सिविल सर्जन

0
439

बिहार संवाददाता सिकंदर राय की रिपोर्ट

फिटकिरी नहीं करेगी कोरोना के संक्रमण से बचाव

भ्रामक पोस्ट से दूरी बनाकर सोशल मीडिया को नजरंदाज करें – सिविल सर्जन

सामाजिक दूरी अपनाकर और घर में रहकर होगा कोरोनावायरस के संक्रमण से बचाव

पटनाकोरोनावायरस के प्रकोप से समस्त विश्व में भय का माहौल व्याप्त है।।लोग संक्रमण से बचाव के लिए नित नए घरेलू उपाय कर रहे हैं। ऐसे समय में सोशल मीडिया जैसे प्लेटफार्म के माध्यम से समुदाय में यह अफवाह फैली हुई है कि फिटकिरी की पोटली बनाकर अपने पास रखने से कोरोनावायरस के संक्रमण से बचाव हो सकता है। जबकि इसका कोई वैज्ञानिक प्रमाण उपलप्ध नहीं है और चिकित्सकों ने भी इस अफवाह को सिरे से ख़ारिज किया है। इंडियन मेडिकल एसोसिएशन के अनुसार फिटकिरी एक एन्टीसेप्टिक का काम करती है और किसी भी वायरस या बैक्टेरिया को ख़त्म करने में सक्षम नहीं है। आईएमए के डॉ. केके अग्रवाल ने बताया फिटकिरी से कोरोना के संक्रमण से सुरक्षा का कोई सम्बन्ध नहीं है। यदि समुदाय में ऐसी इसके संबंध में कोई भ्रांति फैलती है, तब समुदाय को जागरूक करने की जरूरत है।

फिटकिरी नहीं करेगी कोरोना के संक्रमण से बचाव:

सिविल सर्जन डॉ. राजकिशोर चौधरी ने बताया पूरे विश्व में वैज्ञानिक और चिकित्सा विशेषग्य कोरोना की वैक्सीन तैयार करने हेतु प्रयासरत हैं। भविष्य में इसमें सफलता प्राप्त होगी। लेकिन तब तक चिकित्सीय सलाह का पालन करना ही संक्रमण से बचाव का सुरक्षित रास्ता है।सोशल मीडिया में एवं रूढ़िवादी सोच के कारण कोरोनावायरस के संक्रमण से बचाव को लेकर समुदाय में कई तरह की गलतफहमियां हैं। लोग सोशल मीडिया पर कई तरह की भ्रामक बातें कर रहे हैं।फिटकिरी से कोरोनावायरस के संक्रमण से बचाव की कोई चिकित्सकीय साक्ष्य उपलब्ध नहीं है। फिटकिरी सिर्फ एक एन्टीसेप्टिक का काम करती है।सोशल मीडिया से दूरी बनायें और अपने घरों में रहकर अपनी और अपने परिवार को संक्रमण से बचाएं।गुनगुने पानी में फिटकिरी को उबालकर उसे हाथ धोने के लिए इस्तेमाल किया जा सकता है।

घर में रहकर रहें सुरक्षित:
डॉ. चौधरी ने बताया कोरोनावायरस के संक्रमण से बचाव का सबसे सरल उपाय है की लोग ज्यादा से ज्यादा अपने घरों में रहें।कोरोनावायरस से संक्रमित होने का सबसे ज्यादा खतरा भीड़ भाड़ वाली जगहों में जाने से रहता है।इसीलिए लगातार सरकार व स्वास्थ्य विभाग द्वारा सोशल डिस्टेंसिंग अपनाने की बात कही जा रही है। यदि घर में भी किसी व्यक्ति को सूखी खांसी, तेज बुखार अथवा सांस लेने में तकलीफ जैसे लक्षण दिखाई दें तो अविलम्ब अपने डॉक्टर से संपर्क करें. खुद से किसी भी प्रकार के उपचार का सहारा लेने से बचें।

नियमित रूप से करें हाथों की सफाई:
“घर में रहते हुए दिन में 4 से 5 बार साबुन से हाथों की 20 सेकंड तक सफाई कर आप अपने आप को कोरोना के संक्रमण से काफी हद तक सुरक्षित रख सकते हैं”, यह कहना है पी.एम.सी.एच के वरीय चिकित्सक डॉ. बी.के.चौधरी का. डॉ. चौधरी बताते हैं ।आमूमन लोग अपने हाथों की सफाई पर ज्यादा ध्यान नहीं देते हैं।अभी कोरोना काल में हाथों की सफाई रखकर अपने आप को संक्रमण से काफी हद तक बचाया जा सकता है। साथ ही घर में आने वाले सब्जियों को भी गर्म पानी से धोने का बाद ही इस्तेमाल करें। छोटी -छोटी सावधानियां रखकर खुद को और परिवार को कोरोनावायरस के संक्रमण से बचाया जा सकता है।