फिर से रेलवे की भूमि पर सजने संवरने लगे तारे एवं देसी विदेशी शराब की दुकान है।

0
478

बिहार संवाददाता सिकंदर राय की रिपोर्ट:-

हाल ही में रुसेरा घाट रेलवे की भूमि को अतिक्रमण से मुक्त कराने के लिए समस्तीपुर रेलवे डीआरएम पहले सूचना जारी कर लोगों को सूचित कर दिया था। उसके बाद रेलवे की भूमि को रुसेरा घाट रेलवे स्टेशन से लेकर गांधी चौक तक अतिक्रमण से मुक्त कराया ।एक महीना बीतने के पश्चात ही पुनः रुसेरा घाट रेलवे स्टेशन से लेकर गांधी चौक तक रेलवे की भूमि को पुनः स्थानीय दुकानदार द्वारा दुकान बनाने की प्रक्रिया शुरू कर दिया गया है ।रेलवे की भूमि पर सजने  लगी तारी देशी-विदेशी शराब से लेकर चाय पानी के दुकान है। दुकानदारों का कहना है कि रेलवे का काम है उजार ना लेकिन हम लोगों का काम है पुनः उस भूमि पर दुकान लगाना ।रेलवे के अधिकारी आते रहेंगे और जाते रहेंगे लेकिन हम लोग इसी जगह पर तारी देशी-विदेशी शराब भेजते रहेंगे।