बिहार के 28 डॉक्टरों की जाएगी नौकरी

0
340

बिहार संवाददाता सिकंदर राय की रिपोर्ट

कोरोना संकट की महामारी के बीच डॉक्टरों की लापरवाही से सरकार तंग आ चुकी है।राज्य सरकार के डॉक्टरों के अनुपस्थित रहने को लेकर एक बड़ा फैसला लिया है। स्वास्थ्य विभाग की ओर से 28 डॉक्टरों की लिस्ट जारी की गई है।जो बिना परमिशन के ड्यूटी से गायब हैं।सरकार की ओर से इन्हें 3 दिन का अल्टीमेटम दिया गया है।

 स्वास्थ्य विभाग की ओर से जारी ताजा नोटिस के मुताबिक 28 डॉक्टरों की सूची जारी की गई है। कोरोना वायरस के रोकथाम के लिए कई बड़े कदम उठाये जा रहे हैं।राज्य के डॉक्टरों, पैरामेडिकल स्टाफ और नर्सिंग स्टाफ की छुट्टियां 30 मई तक कैंसल की गई हैं. इसके बावजूद भी कई डॉक्टर अपने काम में लापरवाही बरत रहे हैं. विभाग की ओर से 5 अप्रैल को एक पत्र जारी कर ड्यूटी से गायब रहने वालों डॉक्टरों को ड्यूटी पर आने की अपील की गई थी. इसके बावजूद भी 28 ऐसे डाक्टर्स और मेडिकल स्टाफ हैं, जो ड्यूटी पर नहीं आ रहे हैं
स्वास्थ्य विभाग की ओर से इन सभी डॉक्टरों की सूची जारी की गई है जिसमें मेडिकल टीचर, सीनियर रेजिडेंट, ट्यूटर शामिल हैं।सरकार ने ऐसे डॉक्टरों को 3 दिन का अल्टीमेटम दिया है। बिना किसी सूचना के अनिधिकृत रूप से लगातार 15 दिनों तक गायब रहने वाले संविदा डॉक्टरों और टेन्योर पर कार्यरत सीनियर रेजिडेंट और ट्यूटर की संविदा और टेन्योर समाप्त मानी जाएगी। इसके अलावा अन्य उपस्थित डॉक्टरों के ऊपर महामारी एक्ट के तहत कार्रवाई भी की जाएगी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here