ब्रेकिंग न्यूज़ ÷ सर्वोच्च न्यायालय का सबसे बड़ा फैसला पत्रकार पर झूठी f.i.r. हुई तो होगी कोर्ट की अवहेलना और उस पर होगी कार्यवाही

0
179

ब्रेकिंग न्यूज़ ÷ सर्वोच्च न्यायालय का सबसे बड़ा फैसला पत्रकार पर झूठी f.i.r. हुई तो होगी कोर्ट की अवहेलना और उस पर होगी कार्यवाही दरअसल मामला कुछ ऐसा है कि आए दिन पत्रकारों पर झूठी एफ आई आर होती रहती है इसका सबसे बड़ा मुख्य कारण यह है जब पत्रकार द्वारा किसी भ्रष्ट अधिकारी या तो कर्मचारी या सरकारी कार्यों का कवरेज किया जाता है तो उस पर भ्रष्ट अफसर या कर्मचारी द्वारा अनैतिक रूप से पत्रकारों पर दबाव बनाया जाता है कि वह किसी भ्रष्ट मामले का उजागर आम जनता के सामने ना करें और जब पत्रकार उनकी बात नहीं सुनता है तो वह इस हद तक चले जाते हैं कि पत्रकार पर झूठीएफ आई आर करा देते हैं जिसकी वजह से पत्रकारों को कई सारी चुनौतियों का सामना करना पड़ता है यहां तक की उन्हें जेल भी जाना पड़ता हैl उल्लेखनीय है कि भारतीय संविधान का चौथा स्तंभ मीडिया को माना जाता है जिसके माध्यम से पत्रकार समाज में फैली हुई बुराइयों को देश की जनता के सामने लाने का प्रयास करते हैं लेकिन आजकल कुछ भ्रष्ट नेता वह अफसर जब कोई गलत कार्य में लिप्त रहते हैं तो उसे पत्रकार ही कवरेज कर जनता के सामने लाता है इसमें अधिकतर मामलों में भ्रष्ट नेता व अफसर अपने पावर का दुरुपयोग कर पत्रकारों पर झूठा मुकदमा दर्ज करा देते हैंl इन्हीं विसंगतियों को देखते हुए देश की उच्चतम न्यायालय ने पत्रकारों पर हो रहे अत्या चारों पर कोर्ट ने संज्ञान में लेते हुए कहा कि अगर पत्रकार पर झूठी f.i.r. होगी तो उसे कोर्ट की अवहेलना मानी जाएगी वही देश के उच्चतम न्यायालय ने सभी राज्यों के डीजीपी को निर्देश दिए हैं कि अगर कोई अफसर या नेता पत्रकारों के खिलाफ कोई शिकायत करता है तो उसे पूर्ण रूप से जांच में लिया जाए बिना जांच के एफ आई आर कानून के विरुद्ध माना जाएगा l देश की उच्चतम न्यायालय ने कहा की पत्रकार समाज की बुराइयों से अवगत कराता है हर विपदा में पत्रकार ही सबसे आगे आता है इसलिए पत्रकारों के खिलाफ रिपोर्ट यदि आती है तो सबसे पहले उसे “`जांच“` में लेना चाहिएl.

 

NAC NEWS. रामकरण विश्वकर्मा डिप्टी ब्यूरो चीफ शहडोल संभाग

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here