योजना का नाम पता नहीं फिर भी पंचायत में बन रही है सड़क।

0
220

बिहार संवाददाता सिकंदर राय की रिपोर्ट

समस्तीपुर जिला रोसड़ा प्रखंड अंतर्गत हरिपुर पंचायत के वार्ड नंबर 9- एवं 10 में बन रहे सड़क का अब तक एस्टीमेट बोर्ड नहीं लगाया गया है ना ही इस योजना के बारे में किसी भी प्रकार की लोगों को जानकारी दी गई है।
बता दें कि पंचायत के वार्ड नंबर 9 -10 के लोगों योजना का नाम तक नहीं जान रहे हैं योजना का क्या नाम है जानने के लिए लोग बेताब हैं लेकिन पंचायत के मुखिया श्याम नारायण राम पंचायत के लोगों को योजनाओं की जानकारी से वंचित किए हुए हैं ।पंचायत के लोगों में यह भी चर्चा हो रही है कि शायद यह योजना चौदवी वित्त आयोग से बन रही बन रही है, तो कुछ लोगों ने कहा कि शायद योजना मनरेगा विभाग से यह सड़क बन रही है।
बता दें कि यह सड़क उमेश पंडित के घर से लेकर संजय मुखिया के घर तक निर्माण होनी है, लेकिन उसमें भी गंगा प्रसाद के घर तक सड़क निर्माण हो पाई है।
मामला क्या है।
मामला यह है कि सड़क निर्माण में खूब लूट खसौट हो रही है जिसको लेकर ग्रामीणों में आक्रोश देखने को मिला है। पंचायत के वार्ड नंबर 12 के रमेश महतो का कहना है 14 टिन  गिट्टी , 14 टिन बालू, एवं एक पैकेट सीमेंट मिलाया जा रहा है।
वार्ड सदस्य दिलीप मुखिया का कहना है 8 इंच ढलाई कर पीसीसी निर्माण करना है, लेकिन तीन से चार इंची ढलाई की जा रही है ।उसमें भी सफेद बालू की प्रयोग किया जा रहा है । इन्हीं बातों को लेकर सड़क निर्माण के दौरान ग्रामीणों ने एकजुट होकर विरोध करना शुरू कर दिया ।जब पंचायत के मुखिया को इनकी भनक लगी तो सड़क निर्माण स्थल पर पहुंचकर लोगों को समझाया बुझाया और पुनः कार्य को चालू कर दिया।
बावजूद भी लोगों की मांग है की किसी योजना से यह सड़क निर्माण हो रही है जानकारी दी जाए तथा एस्टीमेट बोर्ड लगाया जाए।
लेकिन वहीं पर पंचायत के वार्ड सदस्य का कहना है कभी भी योजना की जानकारी नहीं दी जाती है।
पंचायत सचिव धर्मराज सिंह ने बताया कि योजना से संबंधित मेरे पास किसी भी प्रकार की जानकारी नहीं है।
जब हमारे संवाददाता इस योजना से संबंधित रोसड़ा प्रखंड विकास पदाधिकारी से जानकारी ली तो उन्होंने बताया कि मामला संज्ञान में आया है। जांच किया जाएगा। लेकिन उन्होंने भी योजना का नाम नहीं खोलें। ग्रामीणों ने बताया कार्यों का बोर्ड लगा कर कार्य किया जाय।