रोसड़ा थाना एक बार फिर सवाल के घेरे में है खड़ा।

0
1164

बिहार संवाददाता सिकंदर राय की रिपोर्ट

रोसड़ा एएसआई के समक्ष अमर प्रताप चौरसिया वार्ड पार्षद अरुण कुमार को फसाने की बात कह रही है जो वीडियो से साफ जाहिर हो रही है।

समस्तीपुर जिला के रोसड़ा थाना एक बार फिर चर्चा में है ।

बता दें कि रोसड़ा थाना के पुलिस बल पर रोसड़ा वार्ड नंबर 7 निवासी राजू महतो ने आरोप लगाया है कि 9 जनवरी को उनके पुत्र लल्लू कुमार फाइनेंस कंपनी की कलेक्शन कर घर आ रहे थे उसी बीच अमन प्रताप चौरसिया एवं छोटू चौरसिया घेरकर बाइक छीन लिया था। साथ ही कैश भी छीनने का प्रयास कर रहा था।
लल्लू कुमार किसी तरह जान बचाकर भागने में सफल रहा। श्री महतो ने यह भी बताया कि उसी बीच वार्ड पार्षद अरुण कुमार मिले तो लल्लू ने घटना की सारी बात बताई।
वार्ड पार्षद अरुण कुमार द्वारा श्री महतो को दूरभाष पर सूचना दी साथ ही रोसड़ा थाना को भी दूरभाष पर ही सूचना दी
सूचना मिलते ही रोसड़ा थाना के एएसआई राजकिशोर सिंह अपने दल बल के साथ घटनास्थल पर पहुंचे और घटना की सारी जानकारी ली।
घटनास्थल पर ही एएसआई राज किशोर सिंह द्वारा अमन प्रताप चौरसिया एवं छोटू चौरसिया से बाइक की चाभी लल्लू कुमार को दिलवाए और दोनों पक्ष को 10 जनवरी को रोसड़ा थाना पर आकर आवेदन देने को कहा गया।
दोनों पक्ष 10 जनवरी को रोसड़ा थाना पर जाकर आवेदन जमा कर दिए। लेकिन लल्लू कुमार की आवेदन पर मामला दर्ज नहीं हुई वहीं पर अमन प्रताप चौरसिया को पुनः आवेदन बदलकर 14 जनवरी को मामला दर्ज की गई।
10 जनवरी को ही दोनों पक्ष के द्वारा रोसड़ा थाना में आवेदन देने के बाद खबर प्रकाशित की गई थी।
हालांकि यह सारी घटना तीसरी नजर सीसीटीवी में कैद हो रही थी इस बात से अनभिग थे रोसड़ा थाना के एएसआई राज किशोर सिंह ।
* राजू महतो ने बताया कि मेरे पुत्र द्वारा दिए गए आवेदन पर मामला दर्ज नहीं किया गया और उल्टे बाइक छीनने वाले व्यक्ति के द्वारा दी गई आवेदन पर मामला दर्ज हुई इस बात को लेकर राजू महतो ने पुलिस महानिदेशक महोदय पटना पुलिस महा निरीक्षक महोदय दरभंगा पुलिस उपमहानिरीक्षक महोदय दरभंगा,
मानवाधिकार आयोग पटना, पुलिस अधीक्षक समस्तीपुर,
अनुमंडल पुलिस पदाधिकारी रोसड़ा ,को आवेदन एवं सीसीटीवी फुटेज के साथ दिए और जांच कर उचित कार्रवाई करने की मांग की है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here