सहरसा:- समयानुसार हो स्क्रीनिंग व प्रतिवेदन कार्य : सिविल सर्जन

0
318

बिहार संवाददाता सिकंदर राय की रिपोर्ट

समयानुसार हो स्क्रीनिंग व प्रतिवेदन कार्य : सिविल सर्जन

कार्य अवधि के लिए तय की गई समय-सीमा

एमबीबीएस चिकित्सक करेगें स्क्रीनिंग

सहरसा।20 अप्रैल

जिले में डोर टू डोर किए जा रहे सर्वे व स्क्रीनिंग कार्य में लगे कर्मीयों को सिविल सर्जन डॉ अवधेश कुमार ने निर्देश दिया है कि सर्वे व स्क्रीनिंग का काम अपने टीम के साथ ससमय करें। इसके लिए सिविल सर्जन ने सभी प्रभारी चिकित्सा पदाधिकारियों को निर्देश दिया कि सर्वे व स्क्रीनिंग का कार्य सुबह 8 बजे से कार्य को प्रारंभ हो जाना चाहिए। वहीं इसके समाप्ति की अवधि दोपहर 3 बजे होगी। सर्वे के कार्य के बाद सभी स्वास्थ्य केंद्रों से प्रतिवेदन अपराह्न 4 बजे के पहले जिला प्रतिरक्षण पदाधिकारी कार्यालय तथा जिला स्वास्थ्य समिति सहरसा कार्यालय भेजना सुनिश्चित करेंगे। इसके साथ ही दूरस्थ टीम से मोबाइल पर रिपोर्ट प्राप्त कर प्रतिवेदन कर के किसी भी स्थिति में अपराह्न 4 बजे से पहले कराने का भी निर्देश दिया गया।

प्रतिवेदन की गुणवत्ता एवं रिपोर्टिंग की जिम्मेदारी –
सिविल सर्जन डॉ अवधेश कुमार ने बताया कि प्रतिवेदन की गुणवत्ता एवं रिपोर्टिंग की जिम्मेदारी उस स्वास्थ्य संस्थान के प्रभारी चिकित्सा पदाधिकारी, प्रखंड स्वास्थ्य प्रबंधक एवं प्रखंड मूल्यांकन एवं अनुश्रवण सहायक सह डाटा एंट्री ऑपरेटर की होगी।

सर्वे के दौरान बुखार के साथ
खांसी अथवा सांस लेने में परेसानी के लक्षणों की होगी डाॅक्टरों से जांच

सिविल सर्जन डॉ अवधेश ने बताया कि घर-घर सर्वे के दौरान बुखार के साथ खांसी अथवा सांस लेने में परेसानी के लक्षण वाले जो भी मरीज मिलगें। उस क्षेत्र के पीएचसी प्रभारी चिकित्सा पदाधिकारी सर्वे टीम के साथ मेडिकल टीम को भी भेज उनकी स्क्रीनिंग करायी जाएगी। जिसमें एमबीबीएस डाॅक्टर ही उनकी स्क्रीनिंग करेगें। अगर उनमें कोविड -19 के लक्षण पाया जाता है तो उनके सैंपल को ले जांच के लिए जिला अस्पताल भेजा जाएगा। अगर उन लोगों की जांच रिपोर्ट निगेटिव आती है तो प्रत्येक पीएचसी प्रभारी लिखित प्रतिवेदन जिला को देगें कि उनके द्वारा मेडिकल जांच किए गये में कोविड -19 के लक्षण वाले मरीज नहीं है। जांच के उपरांत उन्हें घर में ही रहने की सलाह भी दी जाएगी।
वार्ता के मौके पर जिला सिविल सर्जन डॉ अवधेश कुमार, जिला प्रतिरक्षण पदाधिकारी डॉक्टर कुमार विवेकानंद, जिला समुदायिक उत्प्रेरक राहुल किशोर, यूनिसेफ केएसआरसी अभय कांत श्रीवास्तव, यूनिसेफ के एसएमसी बंनटेश नारायण मेहता तथा मजहरूल हसन , यूएनडीपी के भीसीसीएम मोहम्मद खालिद, डब्ल्यूएचओ के प्रतिनिधि सूरज कुमार उपस्थित थे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here