110 हड़ताली शिक्षकों के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज, मैट्रिक की कॉपी नहीं जांची इसलिए निलंबन भी होगा

0
231

बिहार संवाददाता सिकंदर राय की रिपोर्टः

पटना : बिहार में हड़ताली नियोजित शिक्षकों को लेकर नीतीश सरकार की नीति कभी दूर-दूर, कभी पास-पास वाली दिख रही है। सरकार की तरफ से कभी शिक्षा मंत्री नियोजित शिक्षकों के प्रति नरम रवैया अपनाते नजर आते हैं तो कहीं हड़ताली शिक्षकों के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज कराकर निलंबन की कार्रवाई तक की जा रही है। मैट्रिक परीक्षा की जांच में शामिल नहीं होने वाले पटना के 110 शिक्षकों के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज कराई गई है। 
मैट्रिक की कॉपी जांच में योगदान नहीं करने वाले इन 110 शिक्षकों के खिलाफ पटना के डीईओ में प्राथमिकी दर्ज कराई है। पटना के जिला शिक्षा पदाधिकारी ज्योति कुमार ने कहा है कि शिक्षकों ने मैट्रिक की कॉपी जांच के लिए योगदान नहीं किया उनके खिलाफ प्राथमिकी दर्ज कराई गई है और सोमवार को इनके निलंबन के लिए नियोजन इकाई को दिशा निर्देश जारी किया जाएगा। इन शिक्षकों को और सरकारी कार्य में बाधा डालने के आरोप में निलंबित किया जाए इसके लिए नियोजन इकाई में मुख्य कार्यपालक अधिकारी और कार्यपालक अधिकारी सदस्य सचिव को अनुशंसा भेजी जाएगी। 
 मैट्रिक परीक्षा की कॉपी जांचने से दूरी बनाने वाले नियोजित शिक्षकों के खिलाफ बिहार भर में सरकार की तरफ से ऐसी ही कार्रवाई की जा रही है। सरकार की स्पष्ट नीति है कि अगर शिक्षक मैट्रिक की कॉपी जांच में शामिल हो जाते हैं तो उनका निलंबन रद्द कर दिया जाएगा। ओरल 48 शिक्षकों ने आज से अपने आंदोलन को और तेज करने की रणनीति बनाई है नियोजित शिक्षक आज से विधायकों और सांसदों के आवास का घेराव करेंगे।